ga('send', 'pageview');
Articles Hub

किस्मत-Luck a new short love story in hindi language About the luck of two lovers

किस्मत…
Luck a new short love story in hindi language About the luck of two lovers, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language,hindi love story in short love, love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language
अरुण बाबू बरेली में अपने परिवार के साथ रहा करते थे, वो बरेली के कोर्ट में वकील थे, उनको एक बेटी और दो बेटा था, बेटी सबसे बड़ी थी, जबकि दोनों बेटा उससे छोटा था, बड़ा बेटा अतुल इंजीनियरिंग कर रहा था, जबकि छोटा बेटा भास्कर ग्रेजुएशन कर रहा था, बड़ी बेटी की पढ़ाई पूरी होने के बाद अरुण बाबू ने उसकी शादी कर दी, समय के साथ साथ अतुल का इंजीनियरिंग भी पूरा हो गया, वह बैच का टोपर था, उसने पहला रैंक लाया था, वह और उसका परिवार बहुत खुश था, लेकिन अतुल को मन लायक नौकरी नहीं मिल पा रहा थी, वहीँ छोटा बेटा ग्रेजुएशन पूरा करके सरकारी नौकरी की तैयारी करने लगा था,और उसकी मेहनत में रंग लाया उसे सरकारी नौकरी मिल गयी, इधर अरुण बाबू भी बीमार रहने लगे थे, वो काम नहीं कर पा रहे थे, इसलिए छोटा बेटा उन्हें काम नहीं करने को कहा करता था, जबकि अरुण बाबू सोच रहे थे की जब तक बड़ा बेटा को नौकरी नहीं मिल जाती तब तक काम करता रहूं, इधर बेटी के ससुराल जाने के बाद घर में एक बहु की कमी महसूस होने लगी, इसलिए अतुल की माँ ने अतुल को शादी करने को कहा, लेकिन अतुल ने शादी करने से मना कर दिया, उसने कहा की पहले नौकरी मिल जाए फिर शादी करूँगा, इसलिए वो सरकारी नौकरी की तैयारी जोर -शोर से कर रहा था, वैसे भी छोटा भाई को नौकरी मिल गया था तो उसकी भी चाहत थी की जल्दी से जल्दी नौकरी मिल जाए, इधर उसकी माँ शादी को ले कर उसे बार बार कह रही थी तो घर में फैसला हुआ की पहले भास्कर की ही शादी कर दी जाए, क्योँकि वह नौकरी में था तो उसके लिए अच्छे अच्छे रिश्ते आने लगे थे, जबकि अतुल के लिए कोई अच्छा रिश्ता भी नहीं आ रहा था,लेकिन भास्कर ने कहा की पहले भैया की शादी करवाई जाए, उसे अच्छा नहीं लग रहा था की बड़ा भाई की शादी नहीं हुई है, और वह कर ले, अब फिर एक बार अतुल की शादी पर बात थम गयी. चूँकि अतुल ने इंजीनियरिंग बाहर से की थी तो वह कभी बेरली में नहीं रहा था, इसलिए उसे कोई उतना अच्छा से नहीं जनता था, जबकि अरुण बाबू को सभी अच्छे जानते थे, उनकी बेरली में इज्जत भी थी, अब अतुल घर पर ही रह कर सरकारी नौकरी का तैयारी कर रहा था, उसे एक बार उसकी मम्मी घर के पास के बाजार से पतंजलि के दुकान से एक दवाई लाने को कहा, वह जाने को तैयार नहीं था, लेकिन मम्मी के कहने पर वह चला गया, दुकान पर एक लड़की बैठी हुई थी, जो बहुत सुन्दर थी, अतुल ने दवाई का नाम बताया, लड़की ने दवाई दे दी, और दाम बताया, जबकि उसकी मम्मी ने उसका दाम कम बताया था, अतुल ने कहा की उसे इसका दाम घर में कम बताया गया है, लड़की ने रुकने को कहा और पापा को बुलाया, फिर अतुल ने उसके पापा को बताया की वह अरुण जी लड़का है,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
प्रेमांध-A true and emotional hindi love story about the love is blind
जलालत-insulting a new short love story in hindi language About the insulting in relation
इज़हार-express a new Love story in hindi language of an one sided lover
Luck a new short love story in hindi language About the luck of two lovers, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language,hindi love story in short love, love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language
यह सुन कर लड़की के पापा ने उसे उसी कीमत पर दवाई दे दी, जो अतुल को बताया गया था, अब जब भी पतंजलि के दुकान से कुछ लाना होता अतुल तैयार हो जाता था जबकि कोई और सामान लाना हो तो वह मना कर देता था, अतुल को वह लड़की पसंद आने लगी, उसका बात करने का अंदाज, उसका स्वभाव सब अतुल को अच्छा लगने लगा, इधर एक बार फिर अतुल की माँ ने अतुल से शादी की बता कही, तो अतुल ने मना कर दिया, उसकी माँ को लगा अतुल किसी को पसंद करता है, इसलिए बार बार मना कर रहा है, उसकी माँ ने उससे पूछा, कोई पसंद है तो बताओ? अतुल ने कहा की पतंजलि दुकान दार की बेटी, तब अचानक सबको ध्यान गया की , अतुल बाजार का कोई काम नहीं करता था लेकिन पतंजलि दुकान से सामान लाना हो तो जरूर जाता था, उस लड़की के बारे में उसकी माँ ने पता लगाया तो पता चला की लड़की का नाम शिखा है, वह एल० एल० बी० मतलब वकालत की पढ़ाई कर रही है, यह बात अरुण जी बताई गयी और बोला गया की उसके पिता से रिश्ता की बात की जाए, अरुण जी ने शिखा के पिता से बात की, शिखा के पिता अरुण जी को बहुत पहले से जानते थे, उनके पुरे परिवार को भी जानते थे,इसलिए वो अपने घर में बात करके बताएंगे ऐसा अरुण जी को कहा, शिखा के पिता ने घर में बात की तो सभी ने यही कहा की लड़का अभी तैयारी कर रहा है, इसलिए अभी शादी करना सही नहीं रहेगा, यह बात शिखा के पिता ने अरुण जी को बताई,यह सुन कर अतुल को बहुत बुरा लगा, और उसने कहा की अब उसे नौकरी मिल भी जायेगी तो वह उस लड़की से शादी नहीं करेगा, और उसने अपने छोटे भाई भास्कर को शादी करने को कह दिया, भाई की बात मान कर भास्कर ने शादी कर ली, और अतुल एक बार फिर से अपनी तैयारी में जुट गया, शायद उसकी किस्मत को शिखा का साथ मंजूर नहीं था

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Luck a new short love story in hindi language About the luck of two lovers, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language,hindi love story in short love, love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like