ga('send', 'pageview');
Articles Hub

मोहब्बतें-Mohabbatein a new short emotional hindi love story

मोहब्बतें……..
Mohabbatein a new short emotional hindi love story, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
अंकुर इंटर की पढ़ाई गोपालगंज से की, वह शुरू से शर्मीला और था, इसलिए लड़कियों से ज्यादा बात नहीं कर पाता था, हलाकि उसे लड़कियों से बात करने की चाहत जरूर थी, उसमे एक और खामी थी, वह बहुत जल्दी बहुत ज्यादा टेंशन ले लेता था, अपने स्वभाव के कारण ही वह सभी से दूर ही रहता था। उसने इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए बैंगलोर के एक कॉलेज में दाखिला लिया और गोपालगंज से सीधे वह बैंगलोर आ गया। जहाँ नया परिवेश, नए लोग के बीच उसे अपने आपको ढालने में परेशानी हो रही थी, उसने कॉलेज के हॉस्टल में ही रहना सही समझा, क्योँकि हॉस्टल बिहार के और लड़के थे, जिनके साथ उसकी दोस्ती हो गयी, उसका रूम मेट भी बिहार का रहने वाला था, लेकिन अंकुर को छोटी छोटी बात पर परेशान देख वह परेशान हो जाता था। वह उसे बार बार समझता था की इतना अधिक टेंशन ना ले, अंकुर का रूम मेट भी की कूल स्वभाव का था, इसलिए उसके रूम मेट की दोस्ती अपने सीनियर के साथ भी जल्दी हो गयी, वह अंकुर की आदतें अपने सीनियर को बताई तो सीनियर ने अपने रूम में अंकुर को बुलाया और उससे बात की और उसे समझाया, लेकिन अंकुर अपनी आदत और स्वभाव से मजबूर था, एक दिन अंकुर के रूम मेट की वजह से वो दोनों कॉलेज जाने में लेट हो गए, अब अंकुर परेशान की कॉलेज लेट पहुँचने पर उसे डाँट लगेगी, वहीँ उसका रूम मेट शांत था वह बोल रहा था की कुछ नहीं होगा, लेकिन अंकुर बहुत ज्यादा परेशान होने लगा, हलाकि कॉलेज पहुँचने पर ऐसा कुछ नहीं हुआ, यह बात जब अंकुर के रूम मेट ने सीनियर को बताई तो सीनियर ने अंकुर का नाम डोंदु रख दिया, अब अंकुर को देखते ही हॉस्टल वाले सभी कहना शुरू करते ,” डोंदु बेटा जस्ट चिल” यह डायलॉग उसके लिए हिट हो गया , जिसकी वजह से अंकुर पहले तो और ज्यादा परेशान हुआ फिर वह भी कूल रहने की कोशिश करने लगा, जिससे उसका रूम मेट ने शांति की सांस ली, इधर कॉलेज में अंकुर के साथ पढ़ने वाली लड़की अंकुर की तरफ दोस्ती की हाथ बढ़ाने लगी, लेकिन अंकुर अपने स्वभाव के कारण उनसे दुरी ही बना कर रखता। उसके साथ पढ़ने वाली लड़की रश्मि एक दिन अंकुर को कहा, कितना भाव खाता है, लड़कियां भाव खाती हैं लेकिन तुम तो लड़का हो कर भाव खाते हो, भला अंकुर क्या कहता की वह भाव नहीं खा रहा है, यह तो उसका स्वभाव है, ज्योँ ज्यों रश्मि अंकुर के करीब आती अंकुर उससे दूर हो जाता, उसके दिमाग में यह बात घूमने लगी की कहीं उसके और रश्मि की चर्चा कॉलेज में ना होने लगे, उसकी बदनामी ना होने लगे,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
चाहत-A new short true and cute story of a loyal couple in hindi language
प्यार की तलाश-find of love an emotional hindi love story of a sweet couple
ये इश्क़ नहीं आसान-This love is not so easy a sweet love story in hindi language
Mohabbatein a new short emotional hindi love story, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

. इन सब की वजह से वह रश्मि से बात नहीं करता, हलाकि अंकुर पढ़ने में तेज था, लेकिन अपनी स्वभाव की वजह से वह सिर्फ अपने आप तक ही सिमित रहता. लेकिन हॉस्टल में वह बहुत खुल गया था, सभी से बात करने लगा था, लेकिन उसका नाम नहीं बदला, सभी उसे डोंदु ही बुलाते थे, अंकुर के रूम मेट ने हॉस्टल में जब रश्मि की बात बताई तो सब डोंदु की खिचाई करने लगे, कैसा लड़का है, जब सामने से लड़की दोस्ती का हाथ बढ़ा रही है, तो यह पीछे भाग रहा है, तभी सीनियर ने अंकुर को बुला कर उसे समझाया की वह पहले लड़कियों से बात करे, फिर धीरे धीरे उसका शर्मीलापन दूर हो जायेगा,इसके लिए वह सोशल साइट पर दोस्ती करे, इसलिए अंकुर के सीनियर ने अंकुर का प्रोफाइल ऑरकुट पर बना दिया, अब अंकुर ऑरकुट से लड़कियों को फ्रेंड रिक्वेस्ट सेंड किया, एक लड़की ने एक्सेपेक्ट भी किया, जिसका नाम दीया था, वह बहुत खुश हुआ, वह दीया से घंटो बात किया करता था, धीरे धीरे दोनों एक दूसरे के बारे में सब कुछ जान लिए, दीया गोरखपुर की रहने वाली थी, इसलिए भी शायद दोनों ने अच्छी बनने लगी, बात करते हुए करीब साल बी हर बीत गया, एक दिन दीया ने अंकुर से मिलने की बात कही, अंकुर भी जोश में आ कर बोल गया की हाँ हम लोग मिलते हैं, लेकिन अंकुर ने बताया की जब उसकी छुट्टी होगी तब वह मिलने आ सकता है, और इतना इंतज़ार दीया नहीं कर सकती थी, इसलिए वह बैंगलोर जाने का प्लान बना ली, बैंगलोर के एक पार्क में दिन में मिलने का प्लान बनाया गया उन दोनों के द्वारा, कुछ दिनों के बाद वह बैंगलोर पहुँच गयी और अंकुर को पार्क बुलाया मिलने के लिए, अब अंकुर यह सुन कर उसका हाथ पाँव फूलने लगा, उसकी समझ में नहीं आ रहा था की वह क्या करे यह बात उसने अपने रूम मेट को बता दी, रूम मेट उसके साथ पार्क जाने को तैयार हो गया, दोनों पार्क पहुँचने अंकुर ने दूर से ही लड़की को देखा, लड़की बहुत सुन्दर थी, वह अंकुर का इंतज़ार कर रही थी, अंकुर का रूम मेट उसे धकेल रहा था, लेकिन अंकुर अपना कदम आगे बढ़ा नहीं पा रही थी, आखिर कार अंकुर लड़की से बिना मिले लौट गया और उसकी मोहब्बत यही थम गयी……

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Mohabbatein a new short emotional hindi love story, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like