Articles Hub

बदलाव की एक प्रेरक कहानी -motivational story in hindi with moral

motivational story in hindi with moral

motivational story in hindi with moral, मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी फॉर स्टूडेंट्स,motivational story in hindi for students, motivational story in hindi for student, motivational story for employees, motivational story in hindi pdf
हम एक से बढ़कर एक motivational जगत की stories प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में आज हम “बदलाव की एक प्रेरक कहानी”motivational story in hindi with moral प्रकाशित कर रहे हैं . आशा है आपको ये खबर पसंद आएगी
बदलाव…..
हमारी जिंदगी में कुछ ना कुछ परेशानी होती रहती है.लेकिन जो हिम्मत के साथ इस परेशानी का हल ढूंढता है वही सफल होता है . सभी चाहते हैं की कुछ नया होना चाहिए, इस संसार में क्रांति होनी चाहिए, लेकिन कोई भी इस क्रांति को करना नहीं चाहता है. अगर हर इंसान खुद में बदलाव लाये तो वो दुनिया में बहुत बड़ी बदलाव लायी जा सकती है.देखा गया है की कई बार तो सफलता हमसे बस थोड़े ही कदम दूर होती है कि हम हार मान लेते है जबकि अपनी क्षमताओं पर भरोसा रख कर किया जाने वाला कोई भी बदलाव छोटा नहीं होता और वो हमारी जिन्दगी में एक नीव का पत्थर भी साबित हो सकता है .आपको बता दे की छोटा सा बदलाव भी महत्वपूर्ण है.
एक लड़का सुबह सुबह दौड़ने को जाया करता था . आते जाते वो एक बूढी महिला को देखता था . वो बूढी महिला तालाब के किनारे छोटे छोटे कछुवों की पीठ को साफ़ किया करती थी. जिसे देख कर लड़का को ताजुब होता की यह बूढी औरत कछुआ का पीठ क्यों साफ़ करती है, इससे बूढी औरत को क्या फैयदा होता है.उसकी समझ में कुछ नहीं आ रहा था.यह बूढी औरत ऐसा क्यों करती है. एक दिन उसने इसके पीछे का कारण जानने की सोची.वो लड़का महिला के पास गया और उनका अभिवादन कर बोला ” नमस्ते आंटी ! मैं आपको हमेशा इन कछुवों की पीठ को साफ़ करते हुए देखता हूँ आप ऐसा किस वजह से करते हो ?” महिला ने उस मासूम से लड़के को देखा और इस पर लड़के को जवाब दिया ” मैं हर रविवार यंहा आती हूँ और इन छोटे छोटे कछुवों की पीठ साफ़ करते हुए सुख शांति का अनुभव लेती हूँ .”
और भी प्रेरणादायक कहानियां पढ़ना ना भूलें==>
चालक भेड़िये और खरगोश की प्रेरक कहानी
एक गरीब लड़के की प्रेरक कहानी
चिड़ियाँ की प्रेरणादायक कहानी
पंडित और अमीर आदमी
क्योंकि इनकी पीठ पर जो कवच होता है उस पर गन्दगी जमा हो जाने की वजह से इनकी गर्मी पैदा करने की क्षमता कम हो जाती है इसलिए ये कछुवे तैरने में मुश्किल का सामना करते है. कुछ समय बाद तक अगर ऐसा ही रहे तो ये कवच भी कमजोर हो जाते है इसलिए कवच को साफ़ करती हूँ. ताकि यह कछुए आसानी से तैरते रहे, उन्हें कोई तकलीफ ना हो. यह सुन कर लड़का हैरान हो गया. भला कछुए का जमा कचड़ा साफ़ करके महिला का क्या फैयदा ? यह सुनकर लड़का बड़ा हैरान था. उसने फिर एक जाना पहचाना सा सवाल किया और बोला “बेशक आप बहुत अच्छा काम कर रहे है लेकिन फिर भी आंटी एक बात सोचिये कि इन जैसे कितने कछुवे है जो इनसे भी बुरी हालत में है जबकि आप सभी के लिए ये नहीं कर सकते तो उनका क्या होगा, क्योंकि आपके अकेले के बदलने से तो कोई बड़ा बदलाव नहीं आयेगा. इस पर महिला ने जो उत्तर दिया, यह सुन कर लड़का चौंक गया.
महिला ने बड़ा ही संक्षिप्त लेकिन असरदार जवाब दिया कि भले ही मेरे इस कर्म से दुनिया में कोई बड़ा बदलाव नहीं आयेगा लेकिन सोचो इस एक कछुवे की जिन्दगी में तो बदलाव आयेगा. तो क्यों हम छोटे बदलाव से ही शुरुआत करें.
जिसे सुन कर लड़का सोच में पड़ गया. वाकई बूढी महिला ने बहुत बड़ी बात कह दी. ” अगर हौसला बुलंद हो तो सब कुछ संभव है, और कुछ करने के लिए एक छोटी सी भी बदलाव जरुरी है.”
मैं आशा करता हूँ की आपको ये खबर आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।
Tags-motivational story in hindi with moral, मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी फॉर स्टूडेंट्स,motivational story in hindi for students, motivational story in hindi for student, motivational story for employees, motivational story in hindi pdf

motivational story in hindi with moral

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like