ga('send', 'pageview');
Articles Hub

आइसक्रीम की तरह पिघलने वाली जादुई मछली.-news in hindi all india

news in hindi all india

news in hindi all india, amazing things, amazing a things, a thousand amazing things, an amazing things, amazing things to do, amazing things the world, the amazing things in world, the amazing things
हम एक से बढ़कर एक ajab gajab news प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में आज हम “आइसक्रीम की तरह पिघलने वाली जादुई मछली”news in hindi all india प्रकाशित कर रहे हैं . आशा है आपको ये खबर पसंद आएगी
आइसक्रीम की तरह पिघलने वाली जादुई मछली……..
यूँ तो सागर के निचे कितने सारे रहस्य छिपे हुए हैं इनका पता लगाना मुश्किल है, लेकिन धीरे धीरे इंसान सागर के भीतर की रहसयमयी दुनिया का पता लगाने में लगातार जुटा हुआ है, इसलिए तो वैज्ञानिकों को एक ऐसी मछली मिली जो खुद पिघल जाती है. वैसे एक से एक आस्चर्य और अजूबा मछली देखने को मिली है, जिसका जिक्र हमेशा होते रहता है, लेकिन कभी ऐसी मछली का जिक्र नहीं हुआ है जो आइसक्रीम की तरह पिघल जाती हो.जी हाँ, हाल ही में वैज्ञानिकों ने एक ऐसी जादुई मछली ढूंढने में सफलता पाई है जो पानी की सतह पर आते ही पिघलने लगती है. मछली की इस रहस्यमयी प्रजाति को प्रशांत महासागर में आठ किमी नीचे पाया गया.वैज्ञानिकों को अब तक अज्ञात रही स्नेलफिश स्नैलफिश की तीन प्रजातियां मिली हैं. इन नई प्रजातियों की खासियत यह है कि यदि इन्हें पानी की सतह पर लाया जाए तो पिघलने लगेंगी. ये मछलियां बहुत कमजोर और जेली सरीखे ढांचे से बनी हैं. इनका रंग भी देखने में विचित्र है. आटाकामा गर्त में एक साहसिक यात्रा के दौरान ये मछलियां मिलीं. बेहद नाजुक दिखने वाली स्नेलफिश भारी पानी के दबाव को भी आसानी से सहने में सक्षम है. इनकी जेलीनुमा संरचना के कारण ही इतना भार सहन कर पाना संभव है. इन मछलियों की सबसे मजबूत हड्डी इनके कानों और दांतों में होती है. कानों की हड्डी के सहारे इन मछलियां में संतुलन स्थापित करने की अद्भुत क्षमता होती है.पेरू और चिली के तट से 160 किमी दूर महासागर की तलहटी में इन्हें पाया गया.
news in hindi all india, amazing things, amazing a things, a thousand amazing things, an amazing things, amazing things to do, amazing things the world, the amazing things in world, the amazing things
और भी अजब गजब खबरें पढ़ें==>
क्या दिमाग से कमजोर लोगों को ही फ़ोन की लत लगती है
पुराने समय के सजा देने के तरीको को जान कर आपकी रूह काँप जाएगी
एक ज्वालामुखी जो दुनिया में ला सकता है तबाही
मजेदार बात यह रही कि वैज्ञानिक कैमरे की सहायता से साढ़े सात हजार मीटर नीचे तैरने वाली इन मछलियों के फोटो लेने में सफल रहे.बता दे की एचडी कैमरे से युक्त फंदे की मदद से पहले एक मछली को फंसाया गया. इसके बाद कई मछलियां अपने आप फंदे में फंसती गईं. हालांकि इन दुर्लभ मछलियों को पूरी तरह सुरक्षित रखा गया है. कैमरा सिस्टम को समुद्र में पूरी तरह डूबने और मछली तक पहुंचने में करीब चार घंटे का समय लगा. इसके बाद लैंडर के मछलियों संग बाहर आने में 12-14 घंटे लगे, दरअसल समुद्र में मछलियों को पकड़ने की शुरुआत तब हुई जब वैज्ञानिकों ने पानी के जरिए वहां उपस्थित लैंडर को ऐसा करने का संकेत दिया.
इसके बाद वैज्ञानिकों ने स्नेलफिश के नाम से जानी जाने वाली इन मछलियों को पकड़ने का सफल प्रयास किया. समुद्र के नीचे ठंडे जल में रहने वाली ये मछलियां सतह पर आते ही आइसक्रीम की तरह पिघलने लगती हैं. हालांकि समुद्र की तलहटी में ये बहुत सक्रिय रहती हैं. इन्हें देखने से यह भी साफ हो जाता है कि इनको भोजन के संकट से नहीं गुजरना पड़ता है. है ना आस्चर्य की बात, किसी ने ये नहीं सोचा होगा की ऐसी भी मछलिया होती होंगी जो पानी सतह पर आते ही पिखलने लगती होंगी.ये मछलिया भारी दबाव और ठंड के अभाव में (समुद्र की सतह) ये मछलियां अपने आप पिघलने लगती हैं. मतलब आप इसे आइसक्रीम वाली मछली भी कह सकते हैं.
मैं आशा करता हूँ की आपको ये खबर आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-news in hindi all india, amazing things, amazing a things, a thousand amazing things, an amazing things, amazing things to do, amazing things the world, the amazing things in world, the amazing things

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like