ga('send', 'pageview');
Articles Hub

सिर्फ तुम-Only You a new short love story in hindi language

सिर्फ तुम….Only You a new short love story in hindi language,true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

इन्दर, अनूप और राहुल एक साथ दिल्ली में एक इंस्टिट्यूट में पढ़ते थे, एक साथ पढ़ने के कारन तीनो अच्छे दोस्त बन गए थे, हलाकि क्लास में और भी लड़के पढ़ाई किया करते थे, लेकिन तीनो एक साथ बैठा करते थे, इसलिए तीनो में अच्छी दोस्ती हो गयी थी, तीनो क्लास खत्म होने के बाद एक साथ ही घुमा भी करते थे , जहाँ एक ओर इन्दर और राहुल का घर दिल्ली में ही था, इसलिए वो दोनों अपने पेरेंट्स के साथ रहा करते थे, दोनों के पिता व्यवसायी थे, ओर काफी अमीर भी थे, वहीँ अनूप भोपाल का रहने वाला था, जिसके पिता भोपाल में कर्मचारी थे, ओर अनूप को महीने में एक बार पॉकेट खर्च मिला करता था, जिससे उसे पूरा महीना चलाना पड़ता था, इसलिए अनूप उन दोनों की अपेक्षा पैसे के मामले में कमजोर था, यह बात इन्दर को अच्छे से पता थी, लेकिन राहुल ने इस बात की ओर कभी ज्यादा ध्यान नहीं दिया, यह बात अनूप को भी समझ में आ रही थी, खैर अनूप क्या कर सकता था, सबकी अपनी अपनी सोच है, लेकिन अनूप को इन्दर का सोच अच्छा लगा,इसलिए अनूप ओर इन्दर में गहरी दोस्ती थी राहुल के अपेक्षा, ओर इधर इन्दर ओर राहुल क्लास खतम होने के बाद शाम को मस्ती किया करते थे, इसलिए इन्दर ओर राहुल में अच्छी दोस्ती थी, उन्ही के क्लास में पल्लवी पढ़ती थी, राहुल ओर अनूप दोनों पल्लवी को पसंद करते थे, यह बात इन्दर भी जनता था, लेकिन वह किसका सपोर्ट करे उसकी समझ में नहीं आ रहा था, क्योँकि इन्दर के लिए राहुल और अनूप दोनों बराबर ही थे, इन्दर ने कहा की दोनों को ये सोचना है की पल्लवी किसे पसंद करती है, अब दोनों की नजर पल्लवी पर टिकी हुई थी, लेकिन मजेदार बात यह थी की पल्लवी के दिल में क्या है, यह कोई नहीं जान रहा था, सिर्फ कयास लगाया जा रहा था, क्योँकि पललवी क्लास में किसी लड़के की तरफ नहीं देखती थी ना ही किसी से बात करती थी. ज्यों-ज्यों वक्त गुजर था, राहुल और अनूप की दिल की धरकन तेज हो रही थी, दोनों अपनी तरफ से कोशिश कर रहे थे की पल्लवी उससे बात करे, उसके करीब आये, और एक दिन पल्लवी नहीं आयी, अगले दिन उसने इन्दर से कल के क्लास के नोट्स मांगे, अब यह सुन कर अनूप और राहुल इन्दर की तरफ देखने लगे, क्योँकि क्लास में पल्लवी ने सिर्फ इन्दर से ही क्यों नोट्स मांगे, आस्चर्य की बात थी, दोनों को लगा कहीं पललवी इन्दर से तो प्यार नहीं करती, इधर इन्दर परेशान,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
लव आजकल
यह रिश्ता प्यार का
एक दिन अपने लिए
टेढ़ा है पर मेरा है
Only You a new short love story in hindi language,true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

उसकी समझ में नहीं आ रहा था की आज तक उसने कभी पल्लवी की तरफ देखा नहीं, ना ही कभी पल्लवी की तरफ ध्यान दिया, फिर अचानक से पल्लवी उससे क्यों नोट्स मांगी, इस बात से जहाँ राहुल इन्दर पर गुस्सा किया वहीँ अनूप ने कुछ नहीं बोला, इन्दर ने राहुल को समझाया की ऐसी कोई बात नहीं है, लेकिन राहुल नहीं माना, इन्दर अनूप की तरफ देखने लगा, अनूप ने हस्ते हुए कहा, होता है भाई होता है, घबराना नहीं है, इन्दर ने कहा, मैं क्यों घबराऊँगा, लेकिन राहुल मुझे गलत समझ लिया यह बात मुझे अच्छी नहीं लगी, इन्दर ने पल्लवी को नोट्स दे दिया, कल हो कर जब पल्लवी ने नोट्स लौटाया तो इन्दर ने पूछा, आखिर कार नोट्स मुझसे ही क्यों माँगा? पल्लवी ने कहा की किसी और से मांगती तो गलत मतलब निकालते, लेकिन तुम नहीं निकलोगे, इसलिए तुमसे माँगा, मतलब साफ़ था की पल्लवी किसी को पसंद नहीं करती थी, यह बात इन्दर ने अनूप को बता दी लेकिन राहुल को नहीं, अब अनूप समझ चूका था की पल्लवी के दिल में क्या है? इसलिए वह टेंशन फ्री हो गया, जबकि राहुल की नजर में अभी तक पल्लवी ही थी……….

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Only You a new short love story in hindi language,true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like