Articles Hub

प्यार का सफर- desikahaniyaan

मुझे जरुरी काम से गांव जाना था, घर से बाहर बस पकड़ने के लिए निकला तो पता चला की,बस का स्ट्राइक है, अब तो मुसीबत हो गयी की,गांव कैसे जाऊ,लेकिन जाना जरुरी था तो कुछ उपाय तो करना ही था,तभी देखा एक ट्रक आ रहा है,और मैंने ट्रक के सामने खड़ा हो कर उससे लिफ्ट मांगी , अनुमन ट्रक किसी के लिए रुकता नहीं है,लेकिन ट्रक वाला भला इंसान था,इसलिए मेरे लिफ्ट मांगने पर वो रुक गया और मैं ट्रक के पीछे चढ़ गया, पीछे में एक लड़की भी बैठी हुई थी,शयद उसने भी ट्रक से लिफ्ट लिया हो, लड़की देखने में सुन्दर थी, कुछ देर तक हम दोनों एक दूसरे को देखते रहे, फिर कुछ देर के बाद मैंने पूछा कहाँ जा रही हैं, तो उसने बताया की वो अपने गांव जा रही है, उसकी माँ बहुत बीमार है इसलिए उसे जल्द से जल्द पहुंचना है और बस का स्ट्राइक होने की वजह से उसने ट्रक से लिफ्ट माँगा है, मैंने कहा घबरावो मत आपकी माँ जल्द ही अच्छी हो जाएगी, फिर उसने पूछा आप कहाँ जा रहे हो? इस पर मैंने कहा मुझे भी गांव जाना है,

desikahaniyaan

लेकिन बस स्ट्राइक की वजह से मैंने भी ट्रक वाले से लिफ्ट लिया है, बात बात में पता चला की उसका गांव मेरे गांव जाने वाले रस्ते में ही पड़ता है, और वो शहर में मेरी ही तरह अकेले रह कर पढ़ाई कर रही है, फिर हम दोनों के बिच पढ़ाई की बातें होने लगी और बाद भविष्य के बारे में भी बात हुई । इस तरह से पता ही नहीं चला की कब ट्रक रुक गया और ट्रक वाले ने हम दोनों को उतर जाने को बोला,क्यूंकि अब वो दूसरी तरफ जायेगा, मैंने ट्रक वाले का तहे दिल से शुक्रिया किया। अब हम दोनों सोचने लगे की आगे का रास्ता कैसे तय किया जाये, तभी एक ट्रैक्टर गुजर रहा था, मैंने उस ट्रैक्टर को रोका और लिफ्ट मांगी फिर उसने भी कुछ दूर तक हमे लिफ्ट दिया, इस तरह हम दोनों आधा राष्ट तय कर लिया था,लेकिन आधा रास्ता तय करना अभी बाकी था, अब हम दोनों पैदल ही बातें करते हुए चल पड़े और कुछ दूर चलने के बाद एक दूसरा ट्रक आ रहा था, काफी मिन्नतें करने के बाद उसने हमे लिफ्ट दिया,ट्रक भी हमारे गांव के तरफ ही जा रहा था, इसलिए हमने रहत की साँस ली, लेकिन तब तक अँधेरा होना शुरू हो गया था, और लड़की अकेले घबराने लगी थी,मैंने लड़की का हौसला बढ़ाते हुए बोला की,मैं उसके गांव तक छोड़ कर ही अपने गांव की तरफ जाऊंगा,मेरी बात सुन कर लड़की ने रहत की साँस ली,क्यूंकि अँधेरा होना शुरू हो गया था। तभी ट्रक ने जोड़ से ब्रेक मारा और लड़की मेरे ऊपर आ कर गिर पड़ी, मेरे ऊपर गिरने की वजह से हम दोनों की सांसे आपस में टकराई जिसकी वजह से हम दोनों की साँसे जोर जोर से चलने लगी थी, फिर लड़की सम्भलते हुए मुझसे दूर हुई ही थी की अचानक फिर से ट्रक एक जोरदार ब्रेक के साथ रुक गयी और इस बार फिर से लड़की मेरे ऊपर गिर पड़ी और इस बार हम दोनों के लब एक दूसरे से टकरा गए,जिसकी वजह से हम दोनों बहुत करीब आ गए,अब हम दोनों एक दूसरे से नजरे चुराने लगे,अब लड़की..ये देसि कहानी अगली पेज में जारी है, आगे पढ़ने के लिए निचे क्लिक करें।



loading...
You might also like