Articles Hub

भाभी के बेड का भयानक रहस्य- real ghost story in hindi pdf

हम एक से बढ़कर एक डरावनी कहानियां प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में आज हम “भाभी के बेड का भयानक रहस्य” real ghost story in hindi pdf प्रकाशित कर रहे हैं . आशा है आपको ये खबर पसंद आएगी.


भाभी के बेड का भयानक रहस्य
कई साल पहले मेरे पिता जी अपने पुरे परिवार के साथ गाँव से शहर शिफ्ट हो गए थे. दरअसल हमारे गाँव में कुछ बुरी आत्माओं का कहर शुरू हो गया था, वहां की हवा में ही कुछ आजीब सी मनुसिअत थी. हम लोग गाँव वाला घर खाली छोड़ कर वहां से दूर शहर में सुकून की जिन्दगी जीने लगे थे. अब हम लोग बड़े हो चुके थे, शादी की बरी आई, हमारे पिता जी ने गाँव वाले घर को अच्छे दामों में बेचा कर अपना शहर वाला घर ठीक करवाया. गाँव वाले घर के आंगन में एक आम का पेड़ लगा हुआ था, पिता जी ने उसकी लकड़ी का एक बेड बनवाया और उसे मेरे बड़े भाई को दे दिया. बाकि लकड़ी को बेच दिया. इससे उन्हें अच्छे दाम मिले.
जब से हमारे घर में वो बेड आया था, तब से कुछ आजीब आजीब सी घटनाएँ हो रही थीं, लेकिन किसी ने इस बारे में गौर नहीं किया. पिता जी अपने दोस्त की लड़की से मेरे भईया की शादी करवादी. मेरी भाभी देखें में किसी हिरोइन से कम नहीं थीं. अब नया वाला बेड का इस्तेमाल होना शुरू हो गया, पहले दिन तो सब ठीक था, लेकिन अगले दिन ही मेरी भाभी की तबियत ख़राब हो गई, पिता जी से मेरे भईया को दांटा और बोला की बहु का ठीक से ध्यान रखा करो. अगले ही जब जब मेरी भाभी उस बेड में सोती तो उन्हें बुरे-बुरे और बेहद डरावने सपने आने लगे.
हम लोगों को कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर ये हो क्या रहा है, पिता जी ने भाभी को उनके घर भेज दिया, वहां जाते ही भाभी ठीक हो गई, जब भाभी वापस हमारे घर आई और उस बेड का इस्तेमाल करना शुरू किया तो फिर से उनकी वैसे ही हालत हो गई. पापा ने शहर के एक बड़े बाबा को इस बारे में बताया, जब बाबा हमारे घर आये तो उन्होंने आते ही बोल दिया कि यहाँ एक बुरी आत्मा का वास है. बाबा से अपने कई तन्त्रं मन्त्र की विद्या से उस आत्मा को अपने सामने बुलवाया और उससे हमारे घर को छोड़ने के लिए बोला, हम लोगों को ये सब बड़ा ही डरावना लग रहा था. तभी उस आत्मा ने बड़े ही खड़े स्वर में बताया कि मैं यहाँ अपने से नहीं आई हूँ मुझे लाया गया है, जिस आप के पेड़ में मैं रहती थी, ये लोगों ने उसे कटवा कर उसका बेड बनवा दिया, मैं अब उसी बेड में रहती हूँ, और जिनको बाकि की लकड़ी बेची गई थी, उसे मैंने मार डाला.


बाबा ने पिता जी से बोला की फ़ौरन उस बेड को अपने घर से वापस गाँव भेज दीजिये, सब कुछ ठीक हो जायेगा. हमारे पिता जी ने बाबा के साथ मिलकर उस बेड को गाँव की नदी के पास लेजा कर उसे जला दिया, बेड के जलने के बाद से हमारे घर में खुशियाँ ही खुशियाँ आ गई, पिता जी से उस आदमी के बारे में भी पता क्या, जिसको उन्होंने बाकि की लकड़ियाँ बेचीं थीं. पता चला कि जिस दिन मैं शहर आया था उसी दिन उसका बहुत ही बुरे तरीके से मौत हो गई थी. घर की दीवाल उस पर गिर गई थी.
और भी भूत की कहानियां horror stories पढ़ना ना भूलें==>
एक प्रेतात्मा का कहर
खुनी चुड़ैल और गर्ल्स हॉस्टल का आतंक
खुनी गुड़िया का कहर
खुनी हवेली का रहस्य


मैं आशा करता हूँ की आपको ये खबर आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-real ghost story in hindi pdf, latest horror story in hindi, short spirit story in hindi,best horror story in hindi language, scary story in hindi language, ghost in hindi, भूत की कहानी

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like