Articles Hub

शादी करने से पहले खुद से पूछें ये सवाल-relationship help

relationship help

relationship help, relationship tips, relationship questions, teenage relationships advice, building strong relationships, how to have a happy relationship.
शादी का समय शुरू होते ही, चारो-तरफ भीड़-भाड़ का माहौल देखा जा सकता है. वैसे शादी को ले कर बहुत से कहावतें हैं,जैसे शादी के लड्डू, जो खाये वो पछताए,जो ना खाये वो ललचाये. मतलब अक्सर देखा गया है की शादी से पहले जिंदगी कुछ और शादी के बाद जिंदगी कुछ और हो जाती है. जो शादी-सुदा हैं वो शादी करना चाहते हैं और जिनकी शादी हो गयी है,वो शादी करके पछता रहे हैं.लेकिन अगर आप शादी करना चाहते हैं तो अपने आप से सवाल पूछे, जिसके बाद कभी आपको पछताना नहीं पड़ेगा. क्योंकि,शादी का फैसला हर व्यक्ति के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण फैसला होता है. बेशक व्यक्ति अपने जीवन के हर फैसले में हड़बड़ी करे, लेकिन शादी करते वक्त या अपना पार्टनर चुनते वक्त इंसान को कभी भी जल्दबाजी या फिर किसी के बहकावे में आकर नतीजे पर नहीं पहुंचना चाहिए. अक्सर देखा जाता है कि लोग उम्र बढ़ने के डर या फिर परिवार के दबाव के चलते शादी करने के लिए राजी हो जाते हैं. जबकि उन्हें ये पता ही नहीं होता है कि आखिर वो शादी क्यों कर रहे हैं? शादी के बाद उनका आगे का क्या प्लॉन है? क्या वो शादी के लिए तैयार हैं? जिससे आप शादी कर रहे हो उससे आपके विचार और लाइफस्टाइल मिल रहा है या नहीं? यह प्रश्न का उत्तर खुद से ले और शादी करे, आपको जिंदगी भर पछताना नहीं पड़ेगा.जबकि आपको जान कर ताजुब होगा की, लोग इन सब चीजों को मामूली समझकर नजरअंदाज कर देते हैं और इन सब चीजों पर बात करना जरूरी नहीं समझते हैं. जिसका नतीजा शादी के बाद तलाक, लड़ाई झगड़े, एक्स्ट्रा मेरिटियल अफेयर और एक्स के साथ फिर से रिलेशनशिप में आने की दिक्कते आती हैं.
शादी करने से पहले,अपने आप से सवाल पूछना चाहिए कि आखिर मैं शादी से चाहता/चाहती क्या हूं? अगर आपका कहीं रिश्ता अभी तक पक्का नहीं हुआ है तो खुद से ये सवाल जरूर पूछें. साथ ही अगर आपकी शादी होने वाली है तो इसके बारे में अपने पार्टनर से बात कीजिए और जानिए कि वो क्या चाहते हैं? क्या आपकी और आपके पार्टनर की सोच आपस में मिल रही है? एक-दूसरे की राय जानना और समझना आजकल के समय में बहुत जरूरी हो गया है. इसलिए ये सवाल खुद से जरूर पूछें.
अगर कोई इंसान रिलेशनशिप में होता है और उनके घरवाले उनसे कहीं और शादी करने का दबाव बनाते हैं तो उसे हर इंसान में कमी दिखती है, क्योंकि उस वक्त उसके लिए सिर्फ वही इंसान परफेक्ट होता है जिससे वह प्यार करता है. ऐसे में व्यक्ति अपनी सोच को बहुत सीमित कर देता है और किसी भी अजनबी इंसान से मिलते ही अपनी सोच उस पर थोप देता है. जबकि किसी से मिलते वक्त आपको उसकी बात को पूरी तरह समझना चाहिए और तुरंत फैसला नहीं लेना चाहिए. अगर आप किसी से मिल रहे हैं तो उस इंसान को एक मौका जरूर दें. उसे बातचीत के लिए पूरा समय दें और पहले से किसी के बारे में राय न बनाएं.
शादी करते वक्त या अपना पार्टनर चुनते वक्त दुनियादारी को एक तरफ रखकर सिर्फ अपनी बात सुनें. क्योंकि जिससे आप शादी कर रहे हैं उसके साथ आपको रहना है, दुनिया को नहीं. कई बार एसा होता है कि आपके अंदर की आवाज आप से कह रही होती है कि ये इंसान आपके लिए ठीक नहीं, पर आप उसे अनसुना करते है. ये चीज आपको आगे जाकर बहुत नुकसान पहुंचा सकती है. इसलिए अपना पार्टनर चुनने वक्त सिर्फ अपने दिल की सुनें. अपना पार्टनर चुनने वक्त खुद से ये बात जरूर पूछें कि क्या आप इस इंसान के साथ हर स्थिति में खुश रह सकते हैं या नहीं? क्या आप उनके सामने अपने वास्तविक रूप में होते हैं?
इन बातो को जान कर ही शादी करे, जिससे आपको जिंदगी में कभी कोई समस्या नहीं होगी.

relationship help

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like