ga('send', 'pageview');
Articles Hub

बन सकते हैं मरने के बाद पेड़- rochak news hindi

rochak news hindi

rochak news hindi, amazing things, amazing a things, a thousand amazing things, an amazing things, amazing things to do, amazing things the world, the amazing things in world, the amazing things
हम एक से बढ़कर एक amazing जगत की खबरें प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में आज हम “बन सकते हैं मरने के बाद पेड़”rochak news hindi प्रकाशित कर रहे हैं . आशा है आपको ये खबर पसंद आएगी
बन सकते हैं मरने के बाद पेड़….
मरने एक बाद आत्मा कहाँ जाती है ये किसी ने नहीं देखा है लेकिन शरीर जरूर आपके पास रह जाती है. इसे जलाना या दफनाना आपके हाथ में है. वैसे भी.मृत शरीर का कुछ हो नहीं सकता.लेकिन अब मृत शरीर से पेड़ ऊगा सकते हैं और इस पेड़ को गले लगा कर आप अपने मरे हुए संबधी को याद कर सकते हैं.मतलब मृत शरीर पेड़ में बदल जाएगा,सुन कर आस्चर्य हुआ होगा भला मृत शरीर पेड़ कैसे बन सकता है.;लेकिन बता दे की ऐसे ही एक कॉन्सेप्ट वीडियो में मृत इंसानों को ताबूत में दफनाने या जलाने की जगह एक पेड़ बनाने का आइड‍िया काफी वायरल हो रहा है.चुकी शवों को दफनाने या जलाने से प्रदूषण होता है जिसको कम करने के लिए इटालियन डिजाइनर राउल ब्रेटजेल और एना सिटेली ने एक इनोवेटिव आइड‍िया है. उनके इस आइड‍िया का नाम है कैप्सुला मुंडी.हलाकि कैप्सुला मुंडी एक बायो प्लास्ट‍िक का खोल यानी ताबूत है. इस ताबूत को मिट्टी के अंदर दफनाया जा सकता है. हालांकि यह ताबूत सामान्य ताबूत की तरह मिट्टी में तब्दील होने में दशकों का समय नहीं लेता है, बल्कि कुछ ही महीने के अंदर यह ताबूत मिट्टी में तब्दील हो जाता है और शव भी डिकंपोज होने लगते हैं.साथ ही इस ऑर्गेनिक ताबूत के साथ एक पेड़ या बीज को भी लगाया जाता है, जिससे कि वह आपको मरने के बाद पेड़ में तब्दील कर देंगे. मरने के बाद शरीर को ताबूत यानि कॉफिन में रखकर दफनाया जाता है,
rochak news hindi, amazing things, amazing a things, a thousand amazing things, an amazing things, amazing things to do, amazing things the world, the amazing things in world, the amazing things
और भी अजब गजब खबरें पढ़ें==>
क्या दिमाग से कमजोर लोगों को ही फ़ोन की लत लगती है
पुराने समय के सजा देने के तरीको को जान कर आपकी रूह काँप जाएगी
एक ज्वालामुखी जो दुनिया में ला सकता है तबाही
वैसे ही आर्गेनिक ताबूत में मृत शरीर को रखकर उसमें पेड़ उगाने का प्रोसेस किया जाता है.शव के डिकंपोज होने के बाद निकलने वाले मिनरल से नए पेड़ को बढ़ने के लिए जरूरी ऊर्जा और पोषण म‍िलता है.जिसकी वजह से पेड़ तेजी से बढ़ता है.इस प्रोजेक्ट से जुड़े हुए लोगों ने कहा कि साथ ही लोग अपने परिजनों को एक पेड़ के रूप में गले लगा सकेंगे और उनकी छांव में बैठ कर समय बिता सकेंगे.वैसे इस प्रोजेक्ट पर कुछ सवाल भी उठाए गए हैं, जैसे शवों में मौजूद दांतों से मर्क्यूरी(पारा) प्रदूषण कर सकता है.इटालियन डिजाइनर राउल ब्रेटजेल और एना सिटेली को यह आइड‍िया 2003 में आया था.
लैट‍िन लैग्वेज के शब्द केप्स्यूला मुंडी का मतलब भी है कि शरीर का प्रकृति के तीन तत्वों में बंट जाना. इसमें शव को दफनाने का तरीका भी अलग होगा. शव को सीधे न रखकर उसे ऑर्गेनिक पॉड में बिल्कुल उसी प्रकार रखा जाएगा जैसे गर्भस्थ शिशु गर्भ में होता है. इससे भी ऐसा लगेगा जैसे पेड़बनकर उन्हें नया जन्म मिल रहा हो. वहीं पेड़ के बढ़ने पर उसकी जड़े शव को अपने साथ तब तक बांधे रखेगी जबतक वह पूरी तरह डिकंपोज न हो जाए.देखना यह है की यह आयडिया कितना कारगर है.
मैं आशा करता हूँ की आपको ये खबर आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।
Tags-rochak news hindi, amazing things, amazing a things, a thousand amazing things, an amazing things, amazing things to do, amazing things the world, the amazing things in world, the amazing things

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like