ga('send', 'pageview');
Articles Hub

माँ का त्याग-sacrifice of mother a new short inspirational Story about the sacrifice of mother

sacrifice of mother a new short inspirational Story about the sacrifice of mother
sacrifice of mother a new short inspirational Story about the sacrifices of mother,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
एक कुरूप औरत थी उसकी एक आंख फूटी हुई थी और कमर भी झुकी हुई थी, जिसके कारण उसकी बहू और पोते- पोती उससे नफरत करते थे। बेटा सरकारी विभाग में एक उच्च अधिकारी था, बहू भी ऊंचे घराने से थी इसलिए वह औरत किसी को अच्छी नहीं लगती थी। हमेशा वे लोग उसका अपमान करते रहते थे और वह चुपचाप सहती रहती थी, उसके बेटे को भी अच्छा नहीं लगता था। लेकिन करे तो क्या करें? एक तरफ तो उच्च अधिकारी था दूसरी तरफ पत्नी और बच्चे थे इसलिए वह चुपचाप अपनी मां को अपमानित होते हुए देखता रहता था।
जब कभी बच्चों के दोस्त या पत्नी की सहेली आती तो वे उस औरत को एक तरफ जाने को कह देते। कहते कि तुम्हें देखकर दूसरे बच्चे डर जाते हैं और तुम हमें लजवाती हो,बेचारी सब चुपचाप सुनती रहती।
एक दिन उसने अपने बेटे से कहा बेटा मुझे गांव छोड़ दो। मैं गांव में रहूंगी यहां मेरा मन नहीं लगता है बेटा कहता है मां वहां पर तुम्हारी देखभाल कौन करेगा? तभी उसकी पत्नी कहती है कि वहां पर तुम्हारे मामा जी हैं वह सब देख लेंगे। तब ना चाहते हुए भी बेटे को अपनी मां को गांव छोड़ना पड़ता है और वह सब शहर में रहते हैं।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
जैसा है अच्छा है-A new short inspirational Story of a Chameleon and his colours
मनुष्य की इच्छाशक्ति-willpower of a man a new short inspirational Story in hindi language
कर्तव्य का पालन-Follow the Duty a new short inspirational Story in hindi
sacrifice of mother a new short inspirational Story about the sacrifices of mother,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

एक दिन बेटे के चाचा अमेरिका से आते हैं जो कि एक डॉक्टर है आते ही वह अपनी भाभी के बारे में पूछता है। तब बेटे की पत्नी कहती है कि मां को यहां अच्छा नहीं लगता इसलिए वह गांव में रह रही है लेकिन बेटे का सिर नीचा देखकर चाचा सब समझ जाता है। वह कहता है कि कल हम सब भाभी से मिलने गांव चलेंगे दूसरे दिन सभी गांव जाते हैं तो वहां पर देखते हैं कि वह औरत बुखार में पलंग पर असहाय पड़ी हुई है वहां उसकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है यह देखकर चाचा को गुस्सा आ जाता है और वह कहता है कि आज तुम्हारी मां की यह स्थिति तुम्हारे ही कारण हुई है बचपन में जब तुम गिर गए थे तो तुम्हारी एक आंख चली गई थी तब इस मां ने अपनी एक आंख दी और तुम्हें रीढ़ की हड्डी में परेशानी थी इसलिए इसने अपना बोन मेरो दे दिया और तुम्हें सुंदर बना दिया , स्वयं कुरूप हो गई।
तुम्हें यह अच्छी नहीं लग रही है। इसी के संघर्ष के कारण तुम आज एक उच्च अधिकारी बने हुए हो यह सब सुनकर बेटे को अपनी गलती का एहसास हुआ और वह रोते हुए अपनी मां से कहने लगा कि मां अब तुम मेरे साथ रहोगी।चाहे कोई रहे या ना रहे, अपनी पत्नी की ओर इशारा करते हुए कहा। पत्नी भी अपने व्यवहार से दुखी थी, लेकिन सोचती है कि मैं किस मुंह से मां से माफी मांगो, वह औरत बहू के मन की स्थिति समझ जाती है और उसे पास बुला बेटे से कहती है खबरदार जो मेरी बहू को कुछ कहा यह हमारे साथ ही रहेगी और फिर बहू मां के पैर छूकर उससे माफी मांगती है। सभी शहर आकर खुशी-खुशी रहने लगते हैं।
मां से बढ़कर दुनिया में कोई नहीं है।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-sacrifice of mother a new short inspirational Story about the sacrifice of mother,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like