ga('send', 'pageview');
Articles Hub

स्वार्थ-Selfishness a new short love story in hindi language About the selfishness of couple

स्वार्थ……
Selfishness a new short love story in hindi language About the selfishness of couple, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
संगीता के पापा के बचपन में ही गुजर जाने की वजह से संगीता की माँ ने काफी मेहनत किया और संगीता को पढ़ाया-लिखाया। संगीता ने भी शुरू से अपनी जिम्मेदारी को समझा और वह मेहनत करके पढ़ाई की और पढ़ाई खत्म होते ही नौकरी शुरू कर दिया। उसने अपनी जिंदगी में काफी संघर्ष किया, जिसकी वजह से उसे एक अच्छी नौकरी मिल गयी,अब वह अपना और अपने घर का ख्याल रखना शुरू कर दिया, इसी क्रम में उसकी शादी की उम्र भी होने लगी। उसकी माँ ने उसे शादी कर लेने को कहा, लेकिन वह शादी से मना करने लगी, उसकी चाहत थी की वह कोई सरकारी नौकरी प्राप्त कर ले फिर शादी करेगी, इसलिए वह लगातार मेहनत करती रही और उसकी मेहनत ने रंग लाया और उसे सरकारी नौकरी भी मिल गयी, संगीता देखने में बहुत सुन्दर थी, और सरकारी नौकरी मिलने के बाद उसके मन में अहम् भी हो गया, लेकिन तब तक शादी की उम्र भी निकली जा रही थी, वह जिस सरकारी संस्थान में नौकरी कर रही थी। वहीँ अभिराज भी नौकरी कर रहा था, ऐसा कहिये की दोनों ने एक साथ ही नौकरी ज्वॉइन किया था, लेकिन दोनों को अलग अलग काम दिया गया था, इसलिए दोनों की मुलाकात कम ही हो पाती थी, एक बार दोनों का आमना-सामना हुआ, तो अभिराज ने हस कर संगीता को “गुड मॉर्निंग” कहा, संगीता ने भी अभिराज को “गुड मॉर्निंग” कहा, अब तो अभिराज को जब भी मौका मिलता वह संगीता के पास बात-चीत करने पहुंच जाता, धीरे-धीरे दोनों में अच्छी दोस्ती हो गयी, बात-चीत से पता चला की अभिराज जहाँ से आता था, उसके आगे से संगीता आती थी, इसलिए अभिराज ने संगीता को कहा की वह उसे ऑफिस ले आएगा और शाम को घर जाते समय भी घर छोड़ देगा, इसके लिए अभिराज को अपने घर से आगे जाना पड़ता, फिर भी नजदीकियां बढ़ाने के लिए अभिराज ने यह फैसला लिया और कल से अभिराज ने संगीता को अपने बाइक से ऑफिस लाना और वापस उसके घर छोड़ना शुरू कर दिया। अब अभिराज के पास बहुत समय था, संगीता से बात करने के लिए, जिससे वह संगीता को अपने करीब ले आया, संगीता भी अभिराज को अपने करीब आने दी, दोनों एक दूसरे के करीब आ गए। एक बार दोनों बाइक से घर जा रहे थे, तभी रास्ते में जोर से बारिश होने लगी, और दोनों भींग गए, अभिराज ने संगीता को घर छोड़ा, तो संगीता ने अभिराज को चाय पिने के लिए घर के अंदर बुला लिया, हलाकि यह पहला मौका नहीं था जब संगीता ने अभिराज को अपने घर पर बुला कर चाय नहीं पिलाया हो, लेकिन यह जरूर था की पहली बार दोनों भींगे थे,और उस समय संगीता के यहाँ उसकी मम्मी भी नहीं थी, शायद वह भी घर से बाहर निकली थी और बारिश होने की वजह से बाहर ही रह गयी थी, संगीता ने अभिराज को बैठा कर अपने भींगे कपडे बदले और चाय बनाने चली गयी, बाहर बारिश अभी भी जोर से हो रही थी, बीच बीच में बादल भी जोर जोर से गरज रहे थे, इधर अभिराज भींगा हुआ चाय का इंतजार कर रहा था, जब संगीता ने चाय बना कर लाया,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
प्यार या धोखा-love or cheat a new short love story in hindi language About the cheating
प्रेम में मौत-The death of Love a new short hindi love story about the love and the death
फेसबूकिया प्रेम-The love of Facebook a new short love story in hindi language
Selfishness a new short love story in hindi language About the selfishness of couple, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

तब तक ठण्ड की वजह से अभिराज काँपने लगा था। यह वह समय था जब दोनों के बिच कुछ ऐसा हुआ जो नहीं होना चाहिए था, खैर जो हो गया सो हो गया, अब अभिराज वापस अपने घर चला आया, अगली सुबह फिर अभिराज संगीता को लेने उसके घर पहुंचा, और शाम को उसे वापस ऑफिस से घर छोड़ दिया, लेकिन जहाँ अभिराज संगीता से बहुत बातें किया करता था, अब बिलकुल भी बात नहीं करता था। धीरे धीरे अभिराज ऑफिस से लेट निकलने लगा, जिसकी वजह से संगीता को अकेले जाना पड़ता था, लेकिन संगीता को यह समझ आने लगा था की उस शाम के बाद अभिराज उससे दूरी बना रहा है, अब वह परेशान रहने लगी। वह अभिराज को किसी भी कीमत पर दूर नहीं जाने देना चाहती थी, लेकिन अभिराज दूरी बना रहा था, इस वजह से दोनों में झगडे भी होने लगे, अब संगीता, अभिराज पर शादी करने का दवाब बना रही थी, उसने इतना तक कह दिया की अगर वह शादी नहीं करेगा तो उसके लिए अच्छा नहीं होगा। अब अभिराज भी परेशान की उसने सिर्फ दोस्ती और बात चीत तक अपना रिश्ता रखने का सोचा था ना की शादी तक क्योँकि उसे मालूम था था इस शादी को ले कर उसके घर वाले कभी तैयार नहीं होंगे, जिसकी वजह थी दोनों की जाती अलग अलग थी, लेकिन वह यह भी जानता था की अगर यह बात संगीता ने बताई तो उसकी नौकरी भी जा सकती है, साथ ही साथ जेल भी जाना होगा, मतलब साफ़ था की इन दोनों ने ही अपना रिश्ता प्यार के बदले स्वार्थ पर बनाया था, खैर काफी समस्याओ के बाद भी आखिर कार अभिराज ने संगीता से शादी कर ली, लेकिन यह शादी दोनों को मालूम था की स्वार्थ के लिए की गयी है, इसलिए दोनों का रिश्ता शादी के बाद भी अच्छा नहीं रहा……

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Selfishness a new short love story in hindi language About the selfishness of couple, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like