Articles Hub

रोकने वाला कोई है-some New jokes of the month in hindi language

some New jokes of the month in hindi language,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य
एक सज्जन अपने सोसाइटी में बड़े लोकप्रिय थे। पर उनकी एक आदत बड़ी बुरी थे। वे हमेशा शराब के नशे में डूबें रहते थे। एक दिन उनके मित्र ने पूछा -भाई साहेब ,,-आपको इतना पीने से रोकने वाला कोई नहीं है ? उन्होंने ठंडी साँसे ली और बोले। -है ना। रोकने वाले सब ऊपर प्रस्थान कर चुके हैं।
[२] एक बुजुर्ग जिनकी उम्र करीब ९० साल की थी ,शराब पी रहे थे। पडोसी ने टोका .-बाबा ,इस उम्र में इतनी शराब क्यों पी रहे हो ? बूढ़े ने जवाब दिया -अरे पीने की भी कोई उम्र होती है क्या? पास के गाँव में चले जाओ वहाँ तुम्हे १०० साल का बुड्ढा पीते हुए मिलेगा। जब उस व्यक्ति ने सौ बर्ष के बुड्ढे से पीने का कारण पूछा तो उसने कहा -मुझे क्यों दोष देते हो .मेरा पडोसी तो १०५ साल का है वह तो कई पैग रोज चढ़ाता है। वह ब्यक्ति अपना सर पीट लिया –

और भी व्यंग्य कहानियां पढ़ें=>
क्या सोनम गुप्ता बेवफा है.
ऑनलाइन मजाक
ये हैं बाबा
फेसबुक ने मारा बिट्टू को
some New jokes of the month in hindi language,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य
[३] समाज सेवा का जूनून .-एक डॉक्टर साहेब को समाज सेवा का जूनून चढ़ा। उन्होंने एक सुदूर गाँव में अपनी पोस्टिंग कराई। गरीब ,अनपढ़ लोगों की सेवा करना उनका उद्देश्य था। साथी लोगों के पुरजोर मना करने पर भी वे नहीं माने। खैर ,चले अपने नए पोस्टिंग पर योगदान देने। सुदूर गाँव। ,धुल भरी कच्ची सड़क। किसी तरह लथपथाते ,मिटटी से लिपटे गाँव पहुंचे। पूछने पर लोगों ने एक मंदिर की तरफ इशारा किया वहीँ प्राथमिक स्वास्थ केंद्र है ग्रामीणों ने बताया। डॉक्टर साहब भूख – प्यास से बेहाल थे। पानी पीया .देखा। मंदिर के चबूतरे पर एक गेरुआ धारी ,लम्बी जाता एवं दाढ़ी वाला व्यक्ति बैठा है। उन्होंने आने का प्रयोजन पूछा। साधू की वेश-भूसा धारण किये व्यक्ति ने कहा ,चार्ज रिपोर्ट भर कर लाये हो। यानी हैंड ओवर ,टेक ओवर वाला फॉर्म। डॉक्टर साहेब नजदीक के गाँव में गए हैं रोगीको देखने। आने में वक़्त लग सकता है। ऐसा करो फॉर्म पर दस्खत कर दे दो ,मैं उन्हें दे दूंगा। वे हैंड ओवर वाले स्थान पर साईंन कर देंगे। थोड़ी हिचकिचाहट और प्रेशर के बाद उन्होंने अपना हस्ताछर कर दिया। फॉर्म हाथ में लेकर उस सन्यासी से दिखनेवाले व्यक्ति ने कहा -स्वागत है डॉक्टर साहैब ,मैं ही प्रभारी डॉक्टर हूँ। १४ साल से इस वियबान गाँव मे पड़ा हूँ। ट्रांसफर ही नहीं होता था। एकाक बार हुआ भी तो कोई चार्ज लेने नहीं आया। नए नौजवान डॉक्टर साहेब हैरत में थे। इधर वे अपना बोरिया विस्तर लेकर चलते बने। पीछे मुड़कर देखा तक नहीं। यह वाक्या थोड़ी पुरानी है। सुनी -सुनाई कहानी है। किसी पर आक्षेप करने की मंशा नहीं है। अतः इसे अन्यथा नहीं लिया जाए।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-some New jokes of the month in hindi language,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like