ga('send', 'pageview');
Articles Hub

अनोखा प्रेम-strange love a new short love story for young readers

अनोखा प्रेम
strange love a new short love story for young readers, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
प्रेम को परिभाषित करना आसान नहीं होता। एक प्रेम कहानी ऐसी है जिसमे प्रेम है,समर्पण है,त्याग है स्नेहिल बंधन है। एक आदमी एक खूबसूरत लड़की से शादी करता है। बहुत खुश है वो। असीम प्यार के डोरे से बंधे है दोनों। तभी समय ने करवट ली। भाग्य का निर्मम प्रहार। वह लड़की अपने पति को बेइन्तिहाँ प्यार करती है। पर एक दिन उसे एहसास होता है कि उसे त्वचा सम्बन्धी एक गंभीर बीमारी ने ग्रसित कर लिया है। धीरे -धीरे उसकी खूबसूरती, बदसूरती में तब्दील होने लगती है। यह तब होता है जब उसका पति एक आवश्यक कार्य हेतु टूर पर जाता है। लौटते समय उसके कार का एक्सीडेंट हो जाता है और वह अपनी आँखों की रौशनी गवां बैठता है। दोनों की गृहस्ती पूर्व की भाँती चलती रहती है। पति को नहीं मालूम कि उसकी पत्नी अपनी खूबसूरती खो चुकी है क्योंकि वह तो अंधा हो चुका है। वह अपने पति की सहारा बनती है और बेपनाह प्यार करती है। पर अभी तो और दुखों का पहाड़ टूटना बांकी था। एक दिन उसकी पत्नी सीढ़ियां उतरते गिर जाती है। सिर में गंभीर चोटें आती है। कुछ दिनों बाद वह इस संसार से चल बसती है। वह व्यक्ति अपने आप को इस संसार में नितांत तनहा महसूस करता है। क्रिया कर्म के संपन्न होते ही वह इस शहर को छोड़ना चाहता है ताकि उन सुनहरी यादों को बिस्मृत किया जा सके।
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
मोहब्बत की कीमत-Price of love a new short love story in hindi language with emotional end
प्रेम शक्ति-Love power a new short and best love story in hindi language of this month
प्यार और संस्कृति-Love and Culture a new short hindi love story
strange love a new short love story for young readers, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

उसका एक पड़ोसी मित्र को जब यह जानकारी मिलती है तब वह उससे पूछता है कि अब वह किस तरह अपनी जिंदगी गुजारेगा क्योंकि जो उसका सहारा थी यानी उसकी पत्नी वह तो अब इस दुनिया में नहीं है। अकेला और अंधेपन का शिकार। कैसे जिंदगी गुजरेगी भला उस आदमी ने अपने मित्र से कहा-दोस्त मै अंधा नहीं हुआ हूँ। बस अंधा बनने का स्वांग भर कर रहा था। मित्र ने आश्चर्य से पूछा-‘आखिर क्यों ?’उसने कहा ,मैं भी अपनी पत्नी को बेपनाह प्यार करता था। मैं जान चुका था की मेरी पत्नी अपनी खूबसूरती धीरे -धीरे खोती जा रही है। अगर उसे यह एहसास हो जाता तो शायद उसे अपनी बिमारी से ज्यादे यह एहसास ही ज्यादे पीड़ादायक होता इसलिए मुझे अंधा बनने का स्वांग रचना पड़ा।मैं उसे केवल खुश रखना चाहता था। इसे कहते हैं अलौकिक प्रेम दूसरों की खुशियों के लिए अपनी थोड़ी सी ख़ुशी की कुर्बानी देने में क्या हर्ज़ है? स्वार्थ से हतकार खामियों को नज़रअंदाज़ करने से जीवन का रास्ता सुगम हो जाता है।

कुछ बेहतरीन पंक्तियाँ –
कुछ रिश्ते हैं इसलिए चुप हैं कुछ चुप हैं
इसलिए रिश्ते हैं वक़्त,एतबार और इज़्ज़त ऐसे परिंदे हैं
जो एक बार उड़ जाएँ तो वापस नहीं आते।
आईना आज फिर रिश्वत लेते पकड़ा गया
दिल में दर्द था और चेहरा हँसता हुआ पकड़ा गया
कभी साथ बैठो तो बताऊँ कि दर्द क्या है
अब यूँ दूर से पूछोगे तो खैरियत ही कहेंगे।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-strange love a new short love story for young readers, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like