ga('send', 'pageview');
Articles Hub

रहसयपूर्ण कोठी-Suspenseful bungalow a new intresting long story from a well known novel in hindi language

Suspenseful bungalow a new intresting long story from a well known novel in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
वैनडोम नगर के नदी के तट पर नदी किनारे एक नीली कोठी है। सामने एक बड़ा बाग है। किसी रईस की कोठी लगती है पर अब यह बीरान सा पड़ा है। चारों तरफ बड़ी -बड़ी घाँसे उग आई हैं। कोठी का सारा रंग धूल वीरानगी छाई रहती है। इसका फाटक लगभग दस बर्षों से बंद पड़ा है। ज़माने में यह कोठी किसी जमींदार करता था। एक बार मेरी मकान मालकिन ने इस कोठी के बारे में भेद की बात बताई। जिस समय स्पेन के कुछ बंदी को इस नगर में भेजा गया तब एक स्पेनिश बंदी यहां भी ठहरा दिया गया। वह प्रतिदिन थाने में जाकर अपनी हाज़री लगता था । वह देखने में बहुत हैंडसम था। तथा उसका व्यवहार बहुत ही सौम्य था। वह नियमित रूप से गिरजाघर जाता था। वह मैडम मैरेट के के घर के पीछे बैठता था। कहते हैं स्पेन में पहाड़ ही पहाड़ हैं। उसे पहाड़ बहुत प्यारा लगता था। एक दिन वह अपने कमरे में नहीं था। उसके कमरे के एक मेज़ पर एक चिट पाया गया। जिसमे लिखा था कि अगर किसी दिन वह नहीं लौटे तो सामने रखे बॉक्स से रुपये निकालकर उसकी सलामत के लिए गिरजाघर में प्रार्थना करवाया जाय ताकि वह बच जाये। उन दिनों मेरे पति कोठी पर ही थे । बहुत खोजबीन की गई पर उसका कोई अता -पता नहीं चला। एक दिन उस स्पेनिश सरदार का कपड़ा नदी किनारे पत्थरों के नीचे दबा पड़ा मिला। मैडम मेरेट के मकान के ठीक सामने। उसके कपडे जला दिए गए और उसे पुलिस द्वारा फरार घोषित कर दिया गया। कुछ लोगों का मानना था की वह नदी में डूब कर मर गया। मैडम की नौकरानी रोज़ी ने एक राज़ की बात बताई जो आपको बताती हूँ हालांकि उसने किसी को बताने से मना किया है। रोज़ी की मालकिन के पास एक चंडी का क्रॉस था जिसे वह हमेशा ह्रदय से लगाए रखती थी। स्पेनिश सरदार के गले में यही क्रॉस देखा गया था। कहानी का सूत्र पकड़ना था जिसे रोज़ी ही बता सकती थी। मैंने एक दिन पूछा -रोज़ी तुम्हारी शादी हो गई है >? उसने अपनी भावनाओं को दबाने की कोशिश की रोज़ी तुम कितनी सुन्दर हो तुम्हे तो बहुत प्रेमी मिल सकते हैं फिर आराम से जिंदगी बिताने के वजाय इस होटल में नौकरी क्यों करती हो ? तुम्हारी मालकिन तुम्हे कुछ दे नहीं गई ? दी थी ना -वह सकुचाकर बोली। मैंने मैडम मेरेट की कहानी सुनाने को कहा। मैडम नीचे के एक कमरे में रहती थी। एक बड़ी अलमारी थी जिसमे वे अपना कपड़ा रखती थी। मैडम बीमार थी सो उनके पति ने दूसरे कमरे में बैठक जमा ली। होनी की बात कहिये एक दिन उसके पति काउंट दो घंटे पहले ही मैडम के कमरे में आ गए। जबकि मैडम का ख़याल था कि वे अपने कमरे में सो रहे होंगे। उन्हें उस दिन मैडम उन्हें बहुत सुन्दर लग रही थी । जिस समय लैंप लिए उन्होंने कमरे का दरवाज़ा खोला , उन्होंने अलमीरा के दरवाज़ा की बंद होने की आवाज़ सुनी। शक हुआ और उन्होंने अपनी पत्नी की आँखों की तरफ देखा। आँखों में चोट खाये हिंसक पशु का भाव था।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
रहस्मय कहानियां-Intresting And suspenseful two stories in hindi language
अनसुलझी मर्डर मिस्ट्री-A new Hindi story of a muder Mistery with suspense
रहस्यमय कथाएं-Best Two new Hindi stories with suspense
Suspenseful bungalow a new intresting long story from a well known novel in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

आपको बड़ी देर हुयी पत्नी का स्वर मधुर नहीं था। काउंट ने रोज़ी को कमरे से बाहर जाने को कहा। काउंट ने आलमारी खोलना चाहा तब पत्नी ने भावावेश में कहा -अगर आलमारी में कोई नहीं हुआ याद रखिये ,हमारा आपका सम्बन्ध हमेशा के लिए टूट जाएगा। वह मान गया। उसने कहा -तुम्हारा ह्रदय पवित्र है तुम कोई पाप नहीं कर सकती। अच्छा क्रॉस हाथ में लेकर कसम खाओ की आलमीरे में कोई नहीं है तब मैं आलमीरा नहीं खोलूंगा . मैडम ने क्रॉस पर हाथ रखकर कसम खाई और कहा कि अलमारी में कोई नहीं है। काउंट ने घंटी बजाकर रोज़ी बुलाया। और धीमे स्वर में कहा -मुझे मालूम है कि तुम राजगीर फोरेस्टर से शादी करना चाहती हो। उसे बुलाकर लाओ अपने औजार के साथ आने को कहना। उसे मालामाल कर दूंगा। तुम्हारी शादी के लिए अलग से दस हज़ार रुपये दूंगा ,ध्यान रहे जब सब सो जाए तभी उसे लाना। राजगीर आया और अलमीरा के सामने एक ईंट गारे से दीवार बनाने का आदेश दिया गया। दीवार इस तरह की वह भाग पूर्णतया बंद हो जाये। रात बितते -बीतते दीवार बन कर तैयार हो गया। सुबह काउंट जरूरी कार्य बताकर घर के बाहर चला गया। मैडम ने फ़ौरन रोज़ी को बुलाया और तुरत औजार लाने को कहा। वह पूरी ताक़त से दीवार को तोड़ने लगी। रोज़ी भी सहयोग कर रही थी। तभी काउंट मैडम के पीछे खड़े हो गए। मैडम को तो सांप सूंघ गया। वह मूर्छित होकर गिर गई। तब से लगातार बीस दिनों तक काउंट कमरे में ही रहा। वही खाना- पीना सोना। वह वहाँ से एक इंच हिला तक नहीं। मैडम कई बार गिड़गिड़ाई। परदेशी है नौजवान है क्यों उसे तड़पा -तड़पा कर मार रहे हो उसकी जान को बक्स दो पर काउंट पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। वह तो पत्थर हो चुका था प्रतिशोध की ज्वाला में जल रहा था। अक्सर कहता मैडम ,आपने तो क्रॉस पर हाथ रखकर कसम खाई थी की अलमीरा में कोई नहीं है। उसके बाद से मैडम कभी ठीक नहीं हुई और दर्द भरे मॉहौल में उसने अपने प्राण त्याग दिए।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Suspenseful bungalow a new intresting long story from a well known novel in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like