Articles Hub
Browsing Tag

A long love story on a strange relationship

अनोखा रिश्ता-A long love story on a strange relationship

मिसेज दास यों तो मेरी कुछ भी नहीं थीं लेकिन मेरे जीवन में उन का स्थान मेरी मां से भी बढ़ कर था. जयशंकर से गले मिल कर जब मैं अपनी सीट पर जा कर बैठा तो देखा मनीषा दास आंचल से अपनी आंखें पोंछे जा रही थीं. उन के पांव छूते समय ही मेरी आंखें नम…