Articles Hub

एक फौजी की भटकती आत्मा का रहस्य -the ghost story in hindi

the ghost story in hindi

लेखक-संजीव

दीपक बहुत खुश हुआ जिस दिन उसका सिलेक्शन फ़ौज में हुआ था. सरकारी नौकरी और देश की सेवा करने का मौका मिलने की ख़ुशी थी वही परिवार और दोस्तों से बिछड़ने का गम. इसे किस्मत कहिये की दीपक को ट्रेनिंग के दौरान ही एक रंगरूट मिला जिसका नाम अनीश था और वो जल्दी ही दीपक का जिगरी दोस्त बन गया। समय बीता और दोनों दोस्तों की पोस्टिंग अलग अलग जगह पर हो गयी। दीपक को कश्मीर भेज दिया गया और अनीश को मणिपुर। दोनों दोस्त खत के जरिये संपर्क में रहते थे। कश्मीर में होने के कारन दीपक का सामना खूंखार उग्रवादियों से होता ही रहता था। ऐसे की एक दिन उग्रवादियों के साथ संघर्ष के दौरान उसे पैर में गोली लग गयी और उसे फ़ौज से रिटायरमेंट लेनी पड़ी। वो वापस अपने गांव आ गया और सरकारी भत्तों की मदद से उसने अपनी एक दुकान खोल ली। इस दौरान वो अनीश से संपर्क में रहा और उसे सारी बातें खत के जरिये बताता रहा। देखते ही देखे एक साल गुजर गया और छुट्टियों में उसी के गांव में रहने वाला एक और फौजी छुट्टियों में घर आया। उससे बातचीत के क्रम में पता चला की उसकी भी पोस्टिंग मणिपुर में ही है। कौतूहलवश दीपक ने उससे अपने जिगरी दोस्त अनीश के बारे में पुछा की शायद वो उसे जानता हो। अनीश का नाम सुनते ही फौजी ने जो बात बोली उसको सुनकर दीपक बेहोश हो गया। दरअसल वो फौजी अनीश के साथ ही था जब पिछले साल बोडो उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ में अनीश की सीने में गोली लगी थी और वो वीरगति को प्राप्त हुआ था। तो दोस्तों अगर अनीश एक साल पहले मर चूका था तो दीपक को क्या खत उसकी आत्मा लिख रही थी। इस रहस्य का पता आजतक नहीं चल पाया है।
अगर कहानी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करें और अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को देसिकहानिया के बारे में बताये।
और भी रोमांचक भूत- प्रेतों की कहानियां पढ़ना ना भूलें==>
कोई है
खुनी हवेली
कातिल आत्मा का बदला
आत्मा का वास

Tags-the ghost story in hindi, a ghost story in hindi, bhoot, real spirit stories in hindi language, indian ghost stories in hindi, real horror story in hindi, भूत की कहानियां

the ghost story in hindi

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like
moviexw | munir khan | Sarosh khan | where can i get stamp | Nashir shafi mir