Articles Hub

Three new inspirational stories together in hindi language

1.
(एक किसान और उसकी पत्नी)

Three new inspirational stories together  in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
एक किसान ने अपनी पत्नी से कहा, “तुम आलसी हो। तुम धीरे-धीरे और सुस्त रूप से काम करती हो। तुम अपना समय ख़राब करती हो।
पत्नी अपने पति के ऐसे शब्दों से नाराज हो गई।
उसने अपने पति से कह, “आप गलत हो। आप कल घर पर रहो। मैं खेत में जाऊंगी। मैं वहां आपका काम करुँगी। क्या आप यहां घर पर मेरा काम करेंगे?
किसान ने खुशी से कहा, “बहुत अच्छा। मैं घर पर तुम्हारा काम करूँगा।
पत्नी ने कहा, “गाय का दूध निकलना हैं, कपडे धोने हैं, बर्तन धोने हैं, मुर्गियों का ध्यान रखना हैं, घर की साफ़ सफाई करनी हैं, और सूत कातना है।
महिला खेत पर गई और किसान घर पर रुक गया। उसने एक बर्तन लिया और गाय का दूध निकलने के लिए चला गया। जब उसने गाय का दूध निकलने की कोशिश की। उसे एक बहुत अच्छी गाय की लात(Kick) मिली। उसने कपडे धोये, बर्तन धोये और घर की साफ़ सफाई करी। इसीमे उसका दम निकल गया।अब वह मुर्गियों को खाना खिलाने के लिए चला गया। वह सूत कातना भूल गया। इसी तरह शाम हो गइ।
शाम को जब पत्नी खेत से लौट आई। किसान ने शर्म से अपना सिर झुका दिया। उसके बाद उसे अपनी पत्नी में कोई गलती नहीं मिली। वे लंबे समय तक खुशी से एक साथ रहे।

Moral
हर इंसान की अलग अलग जिम्मेदारियां हैं। हमे उनको छोटा नहीं आंकना चाहिए।

2.
(शेर की तरह बनो)
Three new inspirational stories together  in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
एक बौद्ध भिक्षु भोजन बनाने के लिए जंगल से लकड़ियां चुन रहा था कि उसने कुछ अनोखा देखा। उसने एक बिना पैरों की लोमड़ी देखी,जो ऊपर से स्वस्थ दिख रही थी। उसने सोचा कि आखिर इस हालत में ये लोमड़ी जिन्दा कैसे है?
वह अपने विचारो में खोया था कि अचानक हलचल होने लगी। जंगल का राजा शेर उस तरफ आ रहा था। भिक्षु भी तेजी से एक पेड़ पर चढ़ गया और वहा से देखने लगा।
शेर ने एक हिरन का शिकार किया था और उसे अपने जबड़े में दबा कर लोमड़ी की तरफ बढ़ रहा था। उसने लोमड़ी पर हमला नही किया, बल्कि उसे खाने के लिए मांस के टुकड़े भी दे दिए। भिक्षु को यह देखकर और भी आश्चर्य हुआ कि शेर लोमड़ी को मारने की बजाय उसे भोजन दे रहा है।
भिक्षुक बुदबुदाया। उसे अपनी आँखों पर भरोसा नही हो रहा था। इसलिए वह अगले दिन फिर वही गया और छिप कर शेर का इंतजार करने लगा। आज भी वैसा ही हुआ।
भिक्षुक बोला कि यह भगवान के होने का प्रमाण है। वह जिसे पैदा करता है, उसकी रोटी का भी इंतजाम कर देता है। आज से इस लोमड़ी की तरह मै भी ऊपर वाले की दया पर जिऊंगा। वही मेरे भोजन की व्यवस्था करेगा।
यही सोचकर वह एक वीरान जगह जा के बैठ गया। पहले दिन बिता, कोई नही आया। दूसरे दिन कुछ लोग आए, पर किसी ने भिक्षुक की ओर नही देखा। धीरे धीरे उसकी ताकत खत्म हो रही थी। वह चल-फिर भी नही पा रहा था। तभी एक महात्मा वहा से गुजरे और भिक्षु के पास पहुँचे।

और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
बदलाव की एक प्रेरक कहानी
चालक भेड़िये और खरगोश की प्रेरक कहानी
कोयल और मोर की प्रेरणादायक कहानी
भिक्षु ने अपनी पूरी कहानी महात्मा को सुनाई और बोला,’आप ही बताए कि भगवान मेरे प्रति इतना निर्दयी कैसे हो गया ? किसी को इस हालात में पहुँचाना पाप नही है ?
‘बिलकुल है’ , महात्मा जी ने कहा, लेकिन तुम इतने मुर्ख कैसे हो सकते हो ? क्यों नही समझते कि-
ईश्वर तुम्हे उस शेर की तरह बनते देखना चाहते थे, लोमड़ी की तरह नही।

Moral
जीवन में भी ऐसा ही होता है कि हमें चीजे जिस तरह समझनी चाहिए उसके विपरीत समझ लेते है। और हम बिना काम करे भाग्य के भरोसे बैठ जाते हैं, ये सोचके की जो भाग्य में होगा मिल जायेगा। जी नहीं, बिना मेहनत्त के तो भाग्य क्या भगवान भी साथ नहीं देता हैं।
हम सभी के अंदर कुछ न कुछ ऐसी शक्तियां हैं, जो हमे महान बना सकती हैं। जरुरत है, उन्हें पहचानने की,यह ध्यान रखने की कि कही हम शेर की जगह लोमड़ी तो नही बन रहे हैं।

3.
(एक अमीर आदमी और उसका बेटा)
Three new inspirational stories together  in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
एक अमीर आदमी था। उसका बेटा इसी साल अपनी ग्रेजुएशन पूरी कर रहा था।
उसका बेटा महीनो से अपने पिताजी से नयी कार की मांग कर रहा था। क्योकि वो जानता हैं कि उसके पापा के पास बहुत सारा पैसा हैं।
जब वो ग्रेजुएट हुआ, तो पापा ने उसे अपने स्टडी रूम में बुलाया। पापा ने बेटे को एक खूबसूरत पन्नी से लपेटा हुआ एक गिफ्ट दिया। और बेटे को ग्रेजुएट होने के लिए उसको बधाई दी।
बेटे ने निराशा से गिफ्ट को खोला तो पाया कि उसमे एक बहुत ही प्यारी लेदर से बाउंड की हुई डायरी थी, जिस पर उसका नाम खुदाया हुआ था।
उसे बहुत गुस्सा आया क्योकि इतने दिन से वह कार की मांग कर रहा हैं और पापा ने केवल डायरी थमा दी। वह गुस्से में उस डायरी को फेका और घर से चला गया।
उस लड़के ने ग्रेजुएशन वाले दिन से पापा का चेहरा नहीं देखा। वह एक दिन उसके पापा की ही तरह सफल और धनवान हो गया और उसने एक खूबसूरत घर भी बना लिया और शादी भी कर ली।
अब उसके दिमाग में आया उसके पापा की उम्र हो गई हैं तो उसे अपनी बीती बातो को भूल जाना चाहिए।
तभी उसे यह सन्देश मिला की उसके पापा गुजर गए हैं। तो वह उसके पापा के घर लौट आया, उनकी सम्पति की देखभाल के लिए।
जब वह घर में पापा के जरुरी कागजात ढूंढ रहा था, तो उसने देखा कि जो डायरी वो छोड़ के गया था, वो वैसी की वैसी नई पड़ी हैं।
उसने डायरी खोली, और ऐसे ही पन्ने पलटने लगा। तभी डायरी के पीछे से एक कार की चाबी गिर गई।
उस कार की चाबी के साथ एक टैग लगा हुआ था।
उसने उस टैग को पढ़ा, “पूरी कीमत चूका दी गई हैं। जहा कही भी तुम ये कार ले जाओ, उसे इस डायरी में लिख कर हमेशा के लिए यादगार बना देना। ढेर सारे प्यार के साथ, तुम्हारा पिता”

Moral
चाहे जो भी आप चाह रहे हो, लेकिन हमेशा जो आपको मिले उसके प्रति अहसासमंद (Grateful) रहो। हो सकता हैं,जो आपने सोचा हो उससे ज्यादा ही आशीर्वाद हो।
रिश्तो में कोई भी निर्णय तुरंत ना ले, क्योकि बाद में आपको पछताने के अलावा कुछ हाथ नहीं लगता हैं.
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Three new inspirational stories together in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like