ga('send', 'pageview');
Articles Hub

तीन प्रश्नो के उत्तर लियो टॉलस्टॉय-Three questions a new Hindi inspirational story

Three questions a new Hindi inspirational story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
यह कहानी उस राजा की है जो अपने तीन प्रश्नो का उत्तर पाना चाहता है। उसके मन में यह धारणा बैठ गयी थी कि अगर वह इन तीन प्रश्नो का उत्तर खोज लेगा तो उसे कुछ और जान्ने की आवश्यकता नहीं रहेगी। ये प्रश्न इस प्रकार के थे। [१] किसी भी कार्य करने का उपयुक्त समय क्या है ? [२]किस व्यक्ति के साथ करना सर्वोचित है ?[३] वह कौन सा कार्य है जो हर समय किया जाना चाहिए ? राजा ने यह घोषणा करवाया कि जो सही उत्तर देगा उसे बड़ा पुरस्कार दिया जाएगा। यह सुनते ही बहुत सारे लोग राजमहल गए और सभी ने यथासंभव अलग -अलग उत्तर दिए। पहले प्रश्न के बारे में एक ने कहा , राजा को एक समय तालिका बनाना चाहिए कार्य के लिए एक निश्चित कर चाहिए। दूसरे व्यक्ति ने कहा कि राजा को सभी कार्यों का अग्रिम निर्णय लेना उचित नहीं होगा। किसी और ने कहा कि राजा के लिए यह संभव नहीं है कि वह हर कार्य को दूरदर्शिता पूर्वक कर सके उसके लिए विद्व्जनो की एक समिति बनाना चाहिए। जो राजा को बताये कि कब क्या करना है। किसी और ने कहा कि कुछ मामले ऐसे होते हैं जिसमे त्वरित निर्णय लेने पड़ते है और परामर्श के लिए समय नहीं होता। दूसरे प्रश्न के उत्तर में भी कोई सहमति नहीं बनी एक ने कहा कि राजा को प्रशासकों में पूरा विश्वास रखना चाहिए दूसरे ने अपने योद्धाओं पर ,तो किसी ने डॉक्टर्स पर भरोसा रखने की सलाह दी। तीसरे प्रश्न के जव्वाब में में भी विविध उत्तर मिले। किसी ने कहा ,विज्ञान का अध्ययन महत्वपूर्ण है तो किसी ने धर्मग्रंथो का अध्ययन। राजा को इन उत्तरों में कोई भी ठीक नहीं लगा। इसलिए किसी को भी पुरस्कार नहीं दिया गया। कुछ दिनों बाद राजा एक पर्वत के ऊपर कुटिया में रहनेवाले महात्मा से मिलने पहुंचे क्योंकि उन्हें मालूम था की महात्मा पर्वत से नीचे कभी नहीं आते और वे राजसी व्यक्तियों से नहीं मिलते थे। राजा ने किसान का वेश धारण किया और महात्मा की कुटिया के सामने पहुँच गए। उन्होंने वृद्ध महात्मा को फावड़ा चलाते देखा। उन्होंने महात्मा के समक्ष तीन प्रश्नो को रखकर उनका उत्तर जानना चाहा। महात्मा ने उनके प्रश्नो को ध्यान से सूना और खुदाई करते रहे। राजा ने फावड़ा ले लिया और दो क्यारियां खोदने के बाद उन्होंने अपने प्रश्नो को दुहराया।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
सूरत और सीरत-two new short motivational stories one about colour and face other about birbal
ला लोरोना की डरावनी कहानी-A new scary story of La Loarana in hindi language
संपर्क और संजोग-Connection and Coincident an amazing hindi inspirational story
Three questions a new Hindi inspirational story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

शाम हो गयी पर राजा को अपने तीन प्रश्नो का उत्तर नहीं मिला। राजा की अधीरता को देखकर महात्मा ने कहा -‘तुम्हे किसी की दौड़ने की आवाज़ सुनाई दे रही है ? राजा ने देखा एक आदमी अपने पेट में लगे घाव को दबाये उनकी तरफ आया और अचेत होकर गिर गया पेट से काफी खून बह रहा था। राजा ने फ़ौरन घाव को साफ़ किया और तब तक अपने कपडे फाड़कर बांधता रहा जबतक खून का बहना रुक नहीं गया। घ्याल व्यक्ति को जब होश आया तो उसने पानी माँगा। उसने उसे पानी पिलाया। सुबह जब राजा की नींद खुली तो पर्वत पर दिब्य आलोक फैला था। उस घायल व्यक्ति ने राजा से माफ़ी मांगी। उसने कहा कि उसने उनकी वध करने की प्रतिज्ञा ली थी। क्योंकि आपने युद्ध में मेरे बंधू -बांधवों को मार डाला था। मैं आपको मारने के लिए छुप कर बैठा था तभी आपके सेवक ने मुझ पर प्रहार किया. मैं आपकी हत्या करना चाहता था पर आपने मेरे जीवन की रक्षा की। राजा ने उसे माफ़ कर दिया। महात्मा ने कहा -आपके प्रश्नो का उत्तर तो दिए जा चुके हैं। यदि आप मेरी सहायता नहीं करते और वापस लौट जाते तो आप शत्रु का शिकार बन जाते। आपका कल बगीचे में काम करने का समय ही सबसे उपयुक्त था ,. अगर आप इसका उपचार नहीं करते तो यह मर जाता और आपसे इसका मेल -मिलाप नहीं हो पाता यही सबसे आवश्यक कार्य था। एक ही समय सबसे महत्वपूर्ण है और वह समय यही है ,इस पल में है ,इसी पल की सत्ता है ,इसी का प्रभुत्व है। अगले पल किसी अन्य व्यक्ति से व्यवहार के लिए हम जीवित भी रहेंगे की नहीं ,यह हम नहीं जानते।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Three questions a new Hindi inspirational story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like