ga('send', 'pageview');
Articles Hub

चमत्कार-Two new inspirational stories about miracle and an eagle

a new short motivational story in hindi language of a poor man,,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

चमत्कार -एक व्यक्ति का लड़का बीमार पड़ा -उस बच्चे के सर में बहुत दर्द रहता था। कई जगह इलाज़ कराने पर भी वह ठीक नहीं हो सका। उसकी एक छोटी लड़की भी थी। प्यारी सी गुड़िया। उसने अपनी माँ को रट देखा। पापा भी गुमसुम थे। वह रोये जा रही थी ,तभी पापा ने कहा ,-अब मेरे बेटे को कोई चमत्कार ही बचा सकता है। बेटी ने सूना ,वह चुपचाप अपना गुल्लक लेकर दवाई के दूकान पर पहुँच गई और चमत्कार माँगा। दूकान पर ग्राहकों की भीड़ जमा था सो उसपर किसी ने ध्या नहीं दिया ,उसने अपना गुल्लक काउंटर पर रख दिया और चिल्लाकर कहा ,-मुझे चमत्कार चाहिए। बगल में एक सज्जन ने पूछा ,बेटा ,आपको चमत्कार क्यों चाहिए। दुकानदार इससे पहले कह चुका था कि यह दवा की दूकान है यहां चमत्कार नहीं बिकता। बच्ची ने उस सज्जन को कहानी सुनाई और अपना गुल्लक फोड़कर कुल १९ रुपये निकाले और चमत्कार खरीदना चाहा। वह सज्जन कोई और नहीं शहर के नामी -गिरामी न्योरो -सर्जन थे। उन्होंने उस बच्ची के साथ घर पर गए। उसकी माँ -बाप से मिले। उन्होंने १९ रुपये में ही उस बच्चे का ऑपरेशन किया। और सफल रहे। उस बच्ची की वजह से लड़के की जिंदगी बच गई और अब वह बिलकुल स्वस्थ है। उस डॉक्टर की महानता भी काबिले -तारीफ़ है।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
पत्नी किसकी-a new short motivational story of a king and a Brahmin
नियति का खेल-a new short motivational story from Mahabharata
नीली रौशनी-The best inspirational story of a soldier in hindi language
a new short motivational story in hindi language of a poor man,,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

[२] बफादार बाज़ -एक राजा था उसने एक बाज़ पाल रखा था। वह उसे हमेशा अपने साथ रखता। उसके गर्दन में एक छोटा सा सोने का प्याला बंधा था ताकि प्यास लगने पर बाज़ पानी पि सके। एक दिन शिकार पर गए। एक हिरन जाल में फँस गया था। कुछ समय बाद हिरन जाल फाड़कर जंगल में भाग निकला। राजा ने कहा -हिरन जिसके पास से भागेगा उसे क़त्ल कर दिया जाएगा। तभी हिरन राजा की तरफ मुदा और उनके सर पर से छलांग लगाकर भाग निकला। राजा घोड़े पर सवार होकर हिरन के पीछे हो लिए और कहा कि जबतक उसे पा ना लूँ ,लौटूंगा नहीं। इधर बाज़ उड़ा और अपनी तेज़ चोंच से हिरन को अंधा कर दिया। राजा ने हिरण को पकड़ लिया और उसके सर कोकात्कार घोड़े पर रख लिया। राजा थक चुका था वह पेड़ के नीचे सुस्ताने लगा। पेड़ से पानी टपक रहा था। वह प्यासा था उसने प्याले में टपकते पानी को जमा किया किन्तु बाज़ ने उस प्याले को गिरा दिया। दुबारा तीबारा भी उसने प्यालेको गिरा दिया। राजा गुस्से से भर उठा और उसने उसके पर को काट डाला। राजा ने बाज़ के संकेत को समझकर अपना सर ऊपर उठाया तो देखा कि एक भयानक सांप दाल से लिपटा हुआ है और उसके मुंह से जहर कटरा -कटरा कर नीचे टपक रहा है। राजा समझ गया कि क्यों उसका बाज़ प्याली को बार -बार गिरा रहा था। राजा ने बाज़ को साइन से लगाया और महल की तरफ चल पड़ा। बाज़ बहुत घायल हो चुका था। महल पहुंचते ही उसने अंतिम साँसे ली। राजा अपने कृत्य पर पूरी उम्र पछताता रहा। कहते है ना बिना सोचे -समझे कार्य करने से बाद में पछतावा के अलावा कुछ नहीं मिलता।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Two new inspirational stories about miracle and an eagle,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like