ga('send', 'pageview');
Articles Hub

दो अदुत कथाएं-Two strange and unique motivational stories in hindi language

Two strange and unique motivational stories in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
[1] जातक कथाएं -भयंकर शीत की एक शाम ,पेड़ पर बैठे हंस ने नीचे की तरफ देखा -मुसलक नामक चूहों का परिवार ठण्ड के कारण बुरी तरह से ठिठुर रहा है। उनके बिलों में पानी भर गया था हंस को दया आ गई। वह नीचे उतारा और उन पर अपने धवल नरम ,उष्ण पंख फैला दिए और उनकी प्राणो की रक्षा की। मुसलक परिवार बच गया। सुबह जब हंस उड़ने को हुआ ,तो अरे क्या हुआ ?वह उड़ नहीं पा रहा था। उसके पंख तो चूहों ने कुतर दिए थे। हंस कातर भाव से रोने -चिल्लाने लगा। आस -पास के जानवर एकत्र हुए और सारी बात जानकार मुसलक परिवार को धिक्कारने लगे। चूहों ने कहा -कुतरना हमारी आदत है। हमने तो कुछ भी गलत नहीं किया। अपनी वजूद के साथ जीने का हमारा हक़ है। हमारी प्रवर्ति तुम्हारी समझ में नहीं आ रही हो तो इसमें हमारा क्या कसूर ? हमारी आदत को गलत कहना अमानवीय है समाज में कुछ लोग हैं जिन्हे आप कितना भी भला कर दें वे समाज -विरोधी हरकत से बाज नहीं आएंगे। गलती हंस की है। ईश्वर ने आपको सोचने के लिए दिमाग दिया है .कृपया इस्तेमाल करें।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
देवयानी-A new inspirational story in hindi of devyaani daughter of shukracharya
राजकीय अभिवादन-A new short hindi story of an inspirational incident of royal welcme
ताबूत-Coufin a new short inspirational story about the life and the death in hindi language
Two strange and unique motivational stories in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
[२] मुश्किलों का हल -अजातशत्रु नाम का एक प्रतापी राजा था। उनका राजपाट अच्छा चल रहा था। पर कहते है ना ,सब समय एक जैसा नहीं रहता। राजा कई मुश्किलों में एक साथ घिर गए और उनसे बाहर निकला उन्हें मुश्किल हो रहा था। उनकी मुलाक़ात एक तांत्रिक से हुई। उस तांत्रिक ने एक उपाय बताया। तांत्रिक ने कहा -आपको पशु -बलि देनी पड़ेगी। एक वृहत अनुष्ठान का आयोजन किया गया। पशुओं की बलि देने के लिए बड़ी संख्या में मैदान में खूंटों से बाँध दिया गया। महात्मा बुद्ध उसी रास्ते से गुजर रहे थे। उन्होंने जब देखा कि निर्दोष पशुओं की बलि दी जाने वाली है तब वे राजा के पास गए और पूछा कि वे इन निर्दोष पशुओं की बलि क्यों दे रहे हैं ? उन्होंने राज्य कल्याण के हित में बलि देने की बात कही। बुद्ध ने कहा -क्या किसी निर्दोष पशु की बलि देने से राज्य का भला हो सकता है ? बुद्ध ने राजा को एक तिनका उठाकर दिया और उसे तोड़ने को कहा। राजा ने तिनके के दो टुकड़े कर दिए। बुद्ध ने कहा -राजन ,अब इसे जोड़ दें। राजा ने कहा -महात्माजी। इसे तो कोई भी नहीं जोड़ सकता। राजन ,अगर आप इन्हे जोड़ नहीं सकते ,उसी तरह जब आप इन पशुओं की बलि देंगे तो ये निर्दोष जीव आप के कारण मृत्यु को प्राप्त होंगे और आपको जीव ह्त्या का दोष लगेगा। और आपकी मुश्किलें काम होने की वजाय और बढ़ेंगी। निर्दोष को मारकर कोई भी सुखी नहीं रह सकता। यही जिंदगी की सच्चाई है। महात्मा बुद्ध की बातों को सुनकर आजातशत्रु उनके चरणों पर गिर पड़े। और अपनी भूल पर माफ़ी मांगी। उन्होंने एलान करा दिया कि अब उनके राज्य में किसी निर्दोष जीव की ह्त्या नहीं की जायेगी। और चलते -चलते -अखबार पढ़ते हुए यदि तुम सावधान नहीं रहे तो अखबार तुम्हे उन लोगों से नफरत करना सीखा देंगे जिन्हे सताया जा रहा है और उन लोगों से प्यार करना जो उन्हें सता रहे हैं। –उपवास हमेशा अन्न का ही क्यों ?लोभ ,लालच चुगली ,काम ,क्रोध गंदे विचारों का भी होना चाहिए।
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Two strange and unique motivational stories in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like