ga('send', 'pageview');
Articles Hub

दो रहस्मयी कहानियां-Two suspenseful and horror stories in hindi language from the period of old times

दो रहस्मयी कहानियां
Two suspenseful and horror stories in hindi language from the period of old times,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
मृत्यु के रहस्य

ज्यों ही किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है हम उसके अंतिम संस्कार के लिए मरघट की तरफ ले चलते हैं। पर कई बार अजीबोगरीब घटनाएं होती हैं जो किसी चमत्कार से काम नहीं होता। सहज विश्वास से परे -मृतक एकाएक अर्थी पर से उठ बैठता है। जबकि डॉक्टर द्वारा उसे मृत घोषित किया जा चुका होता है। कई बार तो मृत व्यक्ति को दफनाने के बाद भी वे जीवित मिलते हैं सन 1896 में कलकत्ता में फ्रैंक लेसली नाम के एक अँगरेज़ का ह्रदय गति रूक जाने के कारण मृत्यु हो गई। उसे एक बढियाँ ताबूत में बंद कर पास के एक कब्रिस्तान में दफना दिया गया। उसके घरवाले उसे उटकमंड के सेंट चर्च के कब्रिस्तान में दफ़न करना चाहते थे। परन्तु चर्च ने आवश्यक आज्ञा छह माह बाद दी ताबूत को बाहर निकाला गया और रस्म के अनुसार जब ताबूत को खोला गया तब लोग भयातुर होकर पीछे हट गए। हुआ यूँ कि छह माह पहले लाश जिस अवस्था में राखी गई थी अब वह उससे बिलकुल भिन्न थी। लेसली की लाश चित लेटाई गई थी किन्तु खोलने पर वह औंधी पड़ी मिली। लाश के पेण्ट और कमीज फटे हुए मिले। मुंह के पास खून भी गिरा था। उंगलियां चबाई हुई मिली। ताबूत और कब्र में ऐसी व्यवस्था की गई थी कि उसमे एक कीड़ा भी प्रवेश नहीं कर सकता था। प्रश्न यह था कि लाश की ऐसी स्थिति कैसे हुई ? वस्तुतः जब लेसली को मृत समझ कर दफना दिया गया था ,उसकी आत्म चेतना मस्तिष्क के अदृश्य भाग थी और वह सांस लेने की स्थिति में बिलकुल नहीं था। किन्तु इस केस में उसका मस्तिष्क और ह्रदय ने फिर से काम करना शुरू कर दिया। वह भय और क्रोध में ताबूत से निकलने का अथक प्रयास किया होगा उसके कपडे भी इस लिये फटे थे. अंत में रक्त वामन के साथ उसकी मृत्यु हुई। एक सामान्य व्यक्ति के मस्तिष्क में 20 वाट विद्युत् शक्ति हमेशा संचालित होती रहती है। रुधिर के गति का रुकना अलग बात है और आत्म चेतना का शून्य हो जाना एक अन्य बात है।
और भी डरावनी कहानियां पढ़ना ना भूलें=>
प्रेत-Ghost a new short horror story of the month in hindi language
प्रेतात्मा का प्रतिशोध-Revenge of a ghost a new horror story in hindi language
अजीबो गरीब कहानी भूत से शादी-A strange real story about marriage with ghost
Two suspenseful and horror stories in hindi language from the period of old times,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

एक और अनहोनी घटना -लड़कियों के एक हॉस्टल में एक लड़की बीमार पड़ गई उसकी नाड़ी चलनी बंद हो गई। सांस भी वह नहीं ले रही थी। डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। और उसकी अंत्योष्टि की भी आज्ञा दे दी गई। हॉस्टल की वार्डेन ने लड़की के अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया। उसका कहना था कि जब तक इसके शरीर से दुर्गन्ध नहीं आती मैं इसे मृत नहीं मानती। एक चमत्कार हुआ जब ठीक तेरहवें दिन उसने सुबह में हिलना -डुलना शुरू कर दिया। डॉक्टर और उपस्थित सभी लोग हैरान थे। वार्डेन ने उसके मुंह में पानी डाला और भरपूर हवा दी तो वह चेतन अवस्था में वापस लौटने लगी। वह कुछ ही देर बाद जीवित होकर बैठ गई वस्तुतः मृत्यु क्या है यह अभी भी उतना ही रहस्यमय है। हम तो इतना ही जानते है कि मृत्यु मस्तिष्क द्वारा काम बंद करने के कारण होती है। क्या यह मानना गलत है कि मृत्यु साँस रुकने या ह्रदय गति रुक जाने से होती है ?और कुछ ज्ञान की बातें -बुरा वक़्त भी क्या कमाल का होता है , जी -जी करने वाले भी तू -तू करने लगते हैं। दुनिया की हर चीज ठोकर लगने से टूट जाती है ,एक कामयाबी ही है जो ठोकर खाकर ही मिलती है। — सूर्य और बाप की गर्मी को सहन करना सीखो ,क्योंकि ये दोनों जब डूबते हैं तब चारों तरफ अन्धेरा छा जाता है।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Two suspenseful and horror stories in hindi language from the period of old times,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like